Home खास ख़बर IIT कानपुर के वैज्ञानिक का दावा- तीसरी लहर की आशंका अब न...

IIT कानपुर के वैज्ञानिक का दावा- तीसरी लहर की आशंका अब न के बराबर…

263
SHARE

देश के वैज्ञानिकों व वरिष्ठ विशेषज्ञों ने कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर चेताया था, हालांकि इसके समय को लेकर सभी एकमत नहीं थे, किसी ने सितंबर में तो किसी ने अक्टूबर में तीसरी लहर की संभावना व्यक्त की थी। इस बीच अब कानपुर आईआईटी के वरिष्ठ वैज्ञानिक पद्मश्री प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने देश के लोगों के लिए राहत भरी खबर दी है। वरिष्ठ वैज्ञानिक पद्मश्री प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने दावा किया है कि संक्रमण तीसरी लहर की आशंका अब न के बराबर है, इसकी मुख्य वजह बड़ी संख्या में टीकाकरण होना बताया है।

महामारी को लेकर नया अध्ययन प्रो. अग्रवाल ने गणितीय सूत्र मॉडल के आधार पर जारी किया गया है। इसके मुताबिक, संक्रमण लगातार कम होगा। वहीं यूपी, बिहार, दिल्ली जैसे राज्य इससे लगभग मुक्ति की ओर हैं। अध्ययन के मुताबिक अक्टूबर तक इन राज्यों में सक्रिय केस इकाई अंकों तक पहुंच जाएंगे। वहीं देश में अक्टूबर क स्कर्य केस 15 हजार के करीब रहेंगे। तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, तेलंगाना, असम, अरूणांचल समेत पूर्वोत्तर के राज्यों में संक्रमित आते रहेंगे।

प्रो. मणिंद्र अग्रवाल के मुताबिक लॉकडाउन और टीकाकरण का काफी लाभ मिलता दिख रहा है। दूसरी लहर के बाद अधिकतर लोगों में हर्ड इम्युनिटी बन गई है। प्रो. अग्रवाल दूसरी लहर के बाद मई से ही कह रहे थे कि तीहरी लहर प्रभावी नहीं होगी, यह दूसरी से काफी कमजोर रहेगी। टीकाकरण ठीक से हुआ और लोगों ने प्रोटोकॉल का पालन किया तो यह न के बराबर रहेगी। मणींद्र अग्रवाल लगातार सरकार को सतर्क करते रहे हैं, दूसरी लहर को लेकर भी उनका दावा काफी हद तक सही रहा था।