Home उत्तराखंड अभी जारी रहेगी बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अपडेट….

अभी जारी रहेगी बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अपडेट….

558
SHARE

उत्तराखण्ड में बीते 24 घंटो से बारिश का दौर जारी है, बारिश का यह दौर आगे भी जारी रहने की संभावना है। भारी बारिश की चेतावनी को देखते हुए प्रदेश में आज सभी स्कूल व आंगनबाड़ी केन्द्रों में अवकाश घोषित किया गया है। देहरादून मौसम विज्ञान केन्द्र द्वारा जारी किए ताजे अपडेट के अनुसार उत्तराखण्ड राज्य के जनपदों के अधिकांश स्थानों में हल्की से मध्यम वर्षा/गर्जन के साथ बौछारें हो सकती हैं। राज्य के उत्तरकाशी, चमोली, रूद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जनपदों में 3500 मीटर और उससे अधिक ऊंचाई वाले स्थानों पर कहीं-कहीं हल्की बर्फबारी होने की संभावना है। वहीं उत्तरकाशी, देहरादून, टिहरी, रूद्रप्रयाग, हरिद्वार, नैनीताल, चम्पावत, पिथौरागढ़, बागेश्वर, अल्मोड़ा, ऊधमसिंहनगर, चमोली एवं पौड़ी जनपदों के कुछ स्थानों में भारी से बहुत भारी वर्षा होने की चेतावनी जारी की गई है।

देखें अपडेट- special_press_release_18.10.21_compressed

भारी बारिश की संभावना को देखते हुए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा है कि इस समय बङी संख्या में पर्यटक और तीर्थयात्री प्रदेश में आए हुए हैं। जरूरी होने पर उन्हें सुरक्षित स्थानों पर ठहराते हुए उनके रहने और भोजनादि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। इसमें किसी तरह की लापरवाही न हो। पर्यटक और तीर्थयात्री यहाँ से अच्छा संदेश लेकर जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य, जिलों और तहसील स्तरों पर कंट्रोल रूम 24 घंटे संचालित हों। जिलों से इन दो दिन, हर घंटे रिपोर्ट भेजी जाए। कोई घटना होने पर उसकी सूचना तुरंत दी जाए। रेस्पोंस टाईम कम से कम होना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नदियों के जलस्तर पर लगातार नजर रखी जाए। आईटीबीपी, सीडब्ल्यूसी, बीआरओ, एसडीआरएफ, राजस्व, पुलिस आदि आपसी समन्वय से काम करें।  ट्रेकर्स के बारे में पूरी सूचना रखी जाए और उनसे सम्पर्क रखें। लैंडस्लाईड जोन पर विशेष ध्यान रखा जाए। रास्ते बंद होने पर तुरंत खोलने की व्यवस्था हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित कर लिया जाए कि भूस्खलन आदि स्थिति में लोग कहीं फंसे नहीं। वे सुरक्षित स्थानों पर ठहरें। आपदा बचाव और राहत संबंधी उपकरण सुचारू स्थिति में हों।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारी बारिश के अलर्ट को देखते हुए पूरी सावधानी बरतनी है। यात्रियों और पर्यटकों से भी सावधानी रखने की अपील की जाए, परंतु किसी तरह के पैनिक की भी जरूरत नहीं है। जिलाधिकारी, एसएसपी स्वयं माॅनिटरिंग करें।