Home अपना उत्तराखंड राष्ट्रपति का देवभूमि दौरा, राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार आएंगे उत्तराखंड

राष्ट्रपति का देवभूमि दौरा, राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार आएंगे उत्तराखंड

1443
SHARE

राष्ट्रपति बनने के बाद रामनाथ कोविंद पहली बार उत्तराखंड के दौरे पर आ रहे हैं. इस यात्रा में उनके साथ परिवार के सदस्य भी रहेंगे.  दौरे को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

राष्ट्रपति बनने के बाद रामनाथ कोविंद पहली बार धर्मनगरी पहुंच रहे हैं. इस दौरान राष्ट्रपति कोविंद हरकी पैड़ी पहुंचकर गंगा पूजन भी करेगें. गंगा पूजन में हरकी पैडी पर राष्ट्रपति के साथ उनके परिवार सात अन्य सदस्य भी मौजूद रहेगें. राष्ट्रपति कोविंद के साथ गंगा पूजन में शामिल होने वालों में उनकी धर्मपत्नी, भाई, पुत्री, पुत्र, पुत्रवधु सहित पौत्र एवं पौत्री शामिल होंगे. श्रीगंगा सभा के महामंत्री रामकुमार मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि उनके पास यह सूची आ चुकी है। इसमें राष्ट्रपति सहित उनके परिवार के सात अन्य सदस्य गंगा पूजन में हिस्सा लेगें।

24 सितम्बर को जायेंगे केदारनाथ –

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 24 सितम्बर को बाबा केदार के दर्शनों को केदारनाथ जाएंगे केदारनाथ की यात्रा के शुभारंभ पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केदारनाथ पहुंचने से भी यात्रा में काफी इजाफा हुआ है 28 सितम्बर 2016 पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी केदारनाथ आए थे 3 मई 2017 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आए जबकि 24 सितम्बर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद केदारनाथ दर्शन करेंगे।

रुद्रप्रयाग के लोग है राष्ट्रपति की यात्रा को लेकर उत्साहित 

 राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के केदारनाथ दौरे को लेकर जिले के लोगों में काफी उत्साहित  है लोगों का कहना है कि देश के प्रथम व्यक्ति के इस धाम में पहुंचने से यहां का सम्पूर्ण विकास होगा यहां सुविधाएं जुटेंगी और भविष्य में यहां आने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या रिकार्ड होगी, जिससे यहां के लोगों को रोजगार मिलेगा और आर्थिकी मजबूत होगी।

केदारनाथ में  तैयारियां शुरू 

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ धाम में राष्ट्रपति के दौरे को लेकर तैयारी शुरू हो गई है हेलीपैड से मंदिर की ओर तक वैरीकेटिंग लगनी शुरू हो गई है विभिन्न अधिकारी और कर्मचारी को इस कार्य को संचालित करवा रहे है इसके साथ ही पुलिस भी अपनी तैयारियों में जुट गई है पुलिस अधीक्षक पीएन मीणा ने पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों की बैठके लेनी शुरू कर दी है साथ ही उन्हें विशेष प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है