Home उत्तराखंड कोविड काल में अनाथ हुए बच्चों को नि:शुल्क उच्च शिक्षा देने के...

कोविड काल में अनाथ हुए बच्चों को नि:शुल्क उच्च शिक्षा देने के लिए प्रतिबद्ध- CIMS& UIHMT ग्रुप ऑफ कॉलेज…

323
SHARE

कोविड काल में अनाथ हुए बच्चों के उत्तराखण्ड सरकार ने मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना शुरु की है। वहीं अब सरकार ने ऐसे बच्चों को निशुल्क उच्च शिक्षा देने की भी घोषणा की है। कोविड से अनाथ बच्चों को उनके घर के नजदीकी महाविद्यालय में निशुल्क उच्च शिक्षा मिलेगी। उच्च शिक्षा सचिव की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि घर से महाविद्यालय तक सरकारी परिवहन के किराये में छूट, हर साल विशेष सहायता अनुदान राशि, छात्रावास में निशुल्क रहना और खाना, टैबलेट औऱ महाविद्यालय यूनिफार्म भी मिलेगी।

वहीं देहरादून में स्थित सीआईएमएस & यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज पहले ही कोरोना काल में अनाथ हुए उत्तराखंड के 100 बच्चों को नि:शुल्क उच्च शिक्षा देने की घोषणा कर चुका है। सीआईएमएस & यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज के चेयरमैन एडवोकेट ललित मोहन जोशी ने बताया कि इस संबंध वह प्रदेश के मुख्यमंत्री व उच्च शिक्षा मंत्री को अवगत कराते हुए उनसे सभी जिलाधिकारियों के माध्यम से ऐसे बच्चों की सूची संस्थान को उपलब्ध कराने का अनुरोध किया है।

उन्होंने सरकार को आश्वसत किया कि हमसे जो भी सामाजिक जिम्मेदारी बन पड़ेगी उसका पूर्ण जिम्मेदारी के साथ निर्वहन करेंगे, ताकि कोई भी प्रतिभावान छात्र-छात्राएं उच्च शिक्षा से वंचित ना रह सकें। सीआईएमएस & यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज विगत 8 वर्षों से संस्थान प्रतिवर्ष 30 से अधिक गरीब व अनाथ बच्चों को नि:शुल्क उच्च शिक्षा प्रदान कर रहा है। सीआईएमएस विगत 20 वर्षों से प्रदेश मेडिकल के क्षेत्र में उच्च शिक्षा प्रदान कर रहा है, जबकि यूआईएचएमटी होलट मैनेजमेंट के क्षेत्र में लगभग 8 साल उच्च शिक्षा प्रदान कराता है।

 

सीआईएमएस & यूआईएचएमटी ग्रुप की यह पहल निश्चित तौर पर ऐसे अनाथ बच्चों के लिए वरदान साबित होगी, जो मेडिकल या होटल मैनेजमेंट के क्षेत्र में उच्च शिक्षा प्राप्त कर बेहतर कैरियर बनाना चाहते हैं।