Home अपना उत्तराखंड अल्मोड़ा अल्मोड़ा- जनसमस्याओं के निस्तारण हेतु 18 अगस्त से 21 अक्टूबर के बीच...

अल्मोड़ा- जनसमस्याओं के निस्तारण हेतु 18 अगस्त से 21 अक्टूबर के बीच विकासखंडों में लगेंगे बहुउद्देशीय शिविर, जानिए आपके ब्लॉक में कब लगेगा शिविर…

333
SHARE

जिलाधिकारी वन्दना सिंह ने बताया कि जनसमस्याओं के निस्तारण  हेतु शासन की प्राथमिकता के अनुरूप कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्रों में बहुउद्देशीय शिविरों के आयोजन का निर्णय जिला प्रशासन द्वारा लिया गया है। उन्होंने बताया कि आगामी दिनांक 18 अगस्त, 2021 को प्रातः 11ः00 बजे सेे विकासखण्ड द्वाराहाट के विपिन त्रिपाठी कुमाऊॅ इंजीनियरिंग कालेज, 25 अगस्त, 2021 को प्रातः 11ः00 बजे से विकासखण्ड कार्यालय सल्ट में, 01 सितम्बर, 2021 को प्रातः 11ः00 बजे से विकासखण्ड कार्यालय ताड़ीखेत में, 08 सितम्बर, 2021 को प्रातः 11ः00 बजे से विकासखण्ड कार्यालय चौखुटिया, 15 सितम्बर, 2021 को प्रातः 11ः00 बजे से विकासखण्ड ताकुला के जिम हॉल सोमनाथ ग्राउण्ड सोमेश्वर, 22 सितम्बर, 2021 को प्रातः 11ः00 बजे से विकासखण्ड कार्यालय भैसियाछाना, 29 सितम्बर, 2021 को प्रातः 11ः00 बजे से तहसील परिसर भिकियासैंण, 05 अक्टूबर, 2021 को प्रातः 11ः00 बजे से विकासखण्ड कार्यालय धौलादेवी, 13 अक्टूबर, 2021 को प्रातः 11ः00 बजे से विकासखण्ड कार्यालय स्याल्दे एवं 21 अक्टूबर, 2021 को प्रातः 11ः00 बजे से विकासखण्ड कार्यालय हवालबाग में बहुउद्देशीय शिविरों का आयोजन किया जायेगा।

 

जिलाधिकारी ने उक्त बहुउद्देशीय शिविरों में जनसमस्याओं के निस्तारण हेतु सभी अधिकारियों को पूर्ण तैयारी के साथ उपस्थित रहने के निर्देश दिए गये हैं। शिविर में विशेषकर समाज कल्याण, स्वास्थ्य, राजस्व, विद्युत, पेयजल, शिक्षा, लोक निर्माण, ग्राम्य विकास, उद्यान, कृषि, उरेडा, पशुपालन, सहकारिता, पूर्ति, रेशम, उद्योग, युवा कल्याण, पर्यटन, खनन, पी0एम0जी0एस0वाई0 विभाग के अधिकारी अपने विभाग के द्वारा संचालित योजनायें जिनका लाभ जनता को मिल सके तत्सम्बन्धी आवेदन पत्र पर्याप्त मात्रा में अपने साथ रखें ताकि शिविर में ही पात्र लोगों को उन योजनाओं का लाभ मिल सके। उन्होंने विभागीय योजनाओं की जानकारी व प्रचार-प्रसार/स्टॉल उक्त शिविरों में लगाने के निर्देश सभी विभागों के अधिकारियों को दिये। उन्होंने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को अनिवार्य रूप से उक्त शिविरों में भाग लेने के निर्देश दिये हैं, उन्होंने कहा कि शिविर के सम्बन्ध में किसी भी प्रकार की लापरवाही अक्षम्य होगी।