Home खास ख़बर भारत में एक अस्पताल जहाँ साथ में रहते है, मरीज और लाश

भारत में एक अस्पताल जहाँ साथ में रहते है, मरीज और लाश

1940
SHARE

नोएडा: जिला अस्पताल में एक बार फिर महिला का शव घंटों तक इमरजेंसी की जमीन पर रखा रहा। बृहस्पतिवार को इसकी जानकारी शहर में आए स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह तक पहुंच गई। इसके बाद मंत्री ने अस्पताल परिसर में बनी मोर्चरी खुलवाने के आदेश दिए। बता दें कि कुछ दिन पहले अस्पताल की इमरजेंसी में एक शव को भर्ती मरीज के पास रख दिया गया था, जिससे मरीज की हालत खराब हो गई थी।

इसे लेकर परिजनों ने हंगामा कर दिया था। इसके बाद अस्पताल प्रशासन ने मोर्चरी खोलकर शव रखने की बात कही थी, लेेकिन उसके बावजूद अभी तक मोर्चरी नहीं खोली गई थी। जिला अस्पताल में पुलिस एक महिला का शव लेकर आई थी। मोर्चरी पर ताला लगा होने से पुलिस ने शव इमरजेंसी में जमीन पर ही रख दिया। इससे इमरजेंसी में आने वाले मरीजों को काफी दिक्कत हो रही थी। मामले की जानकारी स्वास्थ्य मंत्री तक पहुंच गई। इसके बाद उन्होंने जल्द मोर्चरी खोलने के निर्देश दिए। 

सीएमओ डॉ. अनुराग भार्गव ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री ने चाइल्ड पीजीआई के निदेशक से बात कर जल्द मोर्चरी खुलवाने को कहा है। सीएमएस डॉ. अजय अग्रवाल के अनुसार, इस बारे में स्वास्थ्य मंत्री से बात की गई थी। उन्होंने मोर्चरी खुलवाने के आदेश दिए हैं। अब इमरजेंसी में शव नहीं रखा रहेगा।