Home अपराध युवती की जिंदगी पर भारी पड़ी प्रेमी से आखिरी मुलाकात।

युवती की जिंदगी पर भारी पड़ी प्रेमी से आखिरी मुलाकात।

159
SHARE
www.uihmt.com

देहरादून के प्रेमनगर थाना क्षेत्र में युवती की हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है।मामले में पुलिस ने हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया है।पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि हत्यारोपी उस्मान कुरैशी ने शनिवार को अपनी प्रेमिका से आखिरी मुलाकात करने का झांसा दिया और कहा कि इसके बाद उनके बीच कोई रिश्ता नहीं रहेगा।युवती भी उसके  झांसे में आ गई। मोबाइल घर पर ही छोड़कर युवती पुराने प्रेमी की स्कूटी पर सवार हो गई।  आरोपी पहले उसे भगवानपुर ले गया और वहां से सहस्त्रधारा रोड ले आया। पुलिस की मानें तो इस दौरान उस्मान ने प्रेमिका को समझाने की भरसक कोशिश की, लेकिन प्रेमिका उसकी कोई बात सुनने को तैयार नहीं थी। वह चाहती थी कि इस मुलाकात के बाद उनके बीच के रिश्ते का अंत हो जाए। एसपी सिटी श्वेता चौबे के मुताबिक आखिर में उस्मान रात में होटल में ठहरने की जिद करने लगा।प्रेमिका इसके लिए तैयार नहीं हुई। वह प्रेमी पर लगातार घर छोड़ने का दबाव बनाती रही।वापस लौटते समय आरोपी उसे पहले नया गांव की तरफ गया, लेकिन वहां पुलिस देखकर वापस गणेशपुर की तरफ आ गया। रास्ते में बोरिंग मशीन के पास की ओट में ले जाकर उसका गला दबा दिया। बाद में उसके सिर पर पत्थर से प्रहार किया। हत्या करने के बाद रात में आरोपी अपने घर पहुंच गया था। हत्यारोपी उस्मान कुरैशी बीरपुर स्थित केंद्रीय विद्यालय से हाईस्कूल पास है। पुलिस का कहना है कि स्कूल जाते समय ही उस्मान की पहली मुलाकात युवती से हुई थी। बाद में उनकी दोस्ती प्रेम संबंधाें में बदल गई थी। उनकी प्रेम कहानी से काफी लोग परिचित थे।पटेलनगर सीओ अनुज कुमार ने बताया कि आरोपी ने शनिवार दोपहर तेलपुर चौक पर दूसरे युवक के साथ घूम रही गर्लफ्रेंड को रोक लिया था आरोपी ने प्रेमिका के मंगेतर को धमकाया था कि तू इसे छोड़ दे, क्योंकि मैं इससे बहुत प्यार करता हूं, लेकिन वह मानने को तैयार नहीं हुआ। उस समय आरोपी ने युवती को धमकी दी थी कि तू मेरी नहीं तो किसी ओर की भी नहीं होने दूंगा।कत्ल कर दी गई युवती शनिवार तीसरे पहर से घर से गायब थी।परिजनाें को पहले लगा था कि वो रात तक आ जाएगी। पूरी रात परिजन उसका इंतजार करते रहे। बेटी नहीं आई तो परिजनाें की बेचैनी बढ़ती चली गई। सुबह परिजन किसी माध्यम से पुलिस तक आए, तब तक उसका शव बरामद हो चुका था।