Home अंतर्राष्ट्रीय विश्व पर्यटन दिवस 2019: जानें क्यों मनाता है पूरा विश्व, और ...

विश्व पर्यटन दिवस 2019: जानें क्यों मनाता है पूरा विश्व, और भारत के लिए क्यों है खास….

410
SHARE

World Tourism Day 2019 आज पूरी दुनिया में ‘विश्व पर्यटन दिवस’ मनाया जा रहा है.

हर साल 27 सितंबर को पूरी दुनिया में विश्व पर्यटन दिवस मनाया जाता है. इसकी शुरुआत यूनाइटेड नेशंस ने की थी. इसके महासचिव हर साल जनता को इस दिन खास संदेश भेजते हैं. इस दिन जगह-जगह टूरिज्‍म से जुड़े कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. ये विकासशील देशों के लिए आय का मुख्य स्रोत भी है.

विश्व पर्यटन दिवस 2019 भारत के लिए क्यों हैं खास?

हर साल अलग-अलग देश विश्व पर्यटन दिवस की मेजबानी करते हैं. आपको जानकर खुशी होगी कि पहली बार विश्व पर्यटन दिवस की मेजबानी भारत कर रहा है. लोगों को जागरूक करने के लिए विश्व पर्यटन दिवस की एक थीम रखी जाती है, जो हर साल बदलती है. इस बार विश्व पर्यटन दिवस की थीम ‘टूरिज्म एंड जॉब: अ बेटर फ्यूचर फॉर ऑल’ (Tourism and Jobs: a better future for all) है.

क्यों मनाया जाता है विश्व पर्यटन दिवस?

‘विश्व पर्यटन दिवस’ मनाने के पीछे सबसे बड़ी वजह पर्यटन को लेकर जागरुकता फैलाना है. हर देश चाहता है कि पर्यटन के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा लोग उसके देश की सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और आर्थिक मूल्यों को जाने और समझें. दरअसल संयुक्त राष्ट्र संघ ने 1980 से 27 सितंबर को विश्व पर्यटन दिवस के तौर पर मनाने का निर्णय लिया. विश्व पर्यटन दिवस के लिए 27 सितंबर का दिन चुना गया क्योंकि इसी दिन 1970 में विश्व पर्यटन संगठन का संविधान स्वीकार किया गया था.

पर्यटन किसी भी देश के सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनैतिक और आर्थिक विकास के लिए महत्वपूर्ण होता है. लोगों को पर्यटन का महत्‍व समझाने के लिए इसे एक दिवस के रूप में मनाने की शुरुआत की गई थी. इस दिन लोगों को ग्‍लोबल कम्‍युनिटी और टूरिज्‍म पर होने वाले इवेंट्स के प्रति जागरूक किया जाता है ताकि लोग पर्यटन के महत्व को समझ सकें.

भारत में कहां आते हैं ज्यादा विदेशी पर्यटक?

भारत अपने ऐतिहासिक और प्राकृतिक खूबसूरती के लिए पूरे विश्व में मशहूर है. पर्यटन के क्षेत्र में देश लगातार वृद्धि कर रहा है. यहां हर साल 1 करोड़ से भी ज्‍यादा विदेशी पर्यटक आते हैं. पर्यटन मंत्रालय के के अनुसार भारते आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है. 2018 में एक करोड़ पांच लाख पर्यटक भारत आए थे. ज्यादातर विदेशी पर्यटक दिल्‍ली, मुंबई, चेन्‍नई, आगरा और जयपुर घूमने आते हैं.

देश की वृद्धि में सहायक टूरिज्म

भारत विश्व के पांच टॉप पर्यटक स्थलों में से एक है. ग्रामीण क्षेत्रों में भी रोजगार के अवसर कई पैदा हो रहे हैं. साल 2018 में टूरिज्‍म सेक्‍टर का देश की GDP में योगदार 9.2 फीसदी था. चीन, रूस और ब्राजील जैसे उभरते बाजार अब टूरिज्‍म पर खुलकर खर्च कर रहे हैं. कई देशों में टूरिज्‍म में एनुअल ग्रोथ का रेट 8% से ज्‍यादा है. वर्ल्‍ड टूरिज्‍म की बात करें तो सबसे ज्‍यादा टूरिस्‍ट्स फ्रांस की यात्रा करते हैं. इसके बाद स्‍पेन, अमेरिका और चीन का नंबर आता है.

ऐसे में अगर आप भी घूमने के शौकीन हैं तो आज का दिन आपके लिए खास है. आज पूरी दुनिया के विभिन्न देश अपने पर्यटन को बढ़ावा देने का लक्ष्य रखते हैं. ‘विश्व पर्यटन दिवस’ हर साल 27 नवंबर को मनाया जाता है. हर साल इसका एक थीम होता है. इस बार का थीम “टूरिज्म एंड जॉब: अ बेटर फ्यूचर फॉर ऑल” है. इस साल ‘विश्व पर्यटन दिवस’  की मेजबानी भारत कर रहा है. हर साल इसी दिन (27 नवंबर) ‘विश्व पर्यटन दिवस’ मनाने के पीछे एक कारण है.