Home उत्तराखंड उत्तराखंड में कोरोना का ग्राफ 300 पार, लेकिन कोई भी जिला रेड...

उत्तराखंड में कोरोना का ग्राफ 300 पार, लेकिन कोई भी जिला रेड जोन नहीं।

634
SHARE
उत्तराखंड में कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा रविवार रात 7:30 बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 317 हो गई है। जिससे शासन-प्रशासन की चिंता भी बढ़ गई है। अब प्रदेश के सभी 13 जिलों में कोरोना पहुंच चुका है। जिसके बाद अब जिलों के जोनों की श्रेणी में परिवर्तन हुआ है। अब राज्य के सभी जिले ऑरेंज जोन घोषित कर दिए हैं।
केन्द्र सरकार ने लॉकडाउन-4 में राज्य सरकारों को जोन निर्धारण का अधिकार दिया है। जिसके तहत प्रदेश सरकार ने राज्य को दो जोनों ग्रीन व ऑरेंज श्रेणी में रखा था। जिसमें 7 जिले ग्रीन व छह जिलों को ऑरेंज श्रेणी में रखा था। ग्रीन जोन में- बागेश्वर, चमोली, चम्पावत, हरिद्वार, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़ और टिहरी को रखा गया था। वहीं ऑरेंज जोन में- अल्मोड़ा, देहरादून, नैनीताल, पौड़ी, उत्तरकाशी, ऊधमसिंहनगर को रखा गया था। लेकिन इस एक हफ्ते नें ग्रीन जोन जिलों में भी कोरोना के केस सामने आए, जिसके बाद आज जिलों के जोन का पुनर्निर्धारण कर दिया गया है। पहाड़ के ग्रीन जोन जिले भी अब ऑरेंज जोन में आ गए हैं। या यों कहें की अब उत्तराखंड ऑरेंज जोन में है।
हालांकि राज्य सरकार ने किसी भी जिले को रेड जोन की श्रेणी में नहीं रखा है। राज्य सरकार 1 सप्ताह मेंं जोनों की समीक्षा कर छोटी इकाइयों में भी जोन निर्धारण कर सकती है। इसके तहत सरकार ऐसे ब्लॉक या तहसील चिन्हित कर सकती है, जहां कोरोना के मरीज मिल चुके हैं। इससे पूरा जिला ऑरेंज या रेड जोन में आने से बच जाएगा और कोई क्षेत्र ज्यादा प्रभावित होता है तो वहां अधिक ताकत झोंकी जा सकती है।