Home उत्तराखंड उत्तराखंड ने एक ऊर्जावान और दूरदर्शी नेता खो दिया है- मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र...

उत्तराखंड ने एक ऊर्जावान और दूरदर्शी नेता खो दिया है- मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत।

862
SHARE

उत्तराखंड भाजपा को बड़ा झटका लगा है, प्रदेश के सल्ट विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह जी का दिल्ली में निधन हो गया है। उनके निधन से पूरा उत्तराखण्ड सहित भाजपा में शोक में डूब गया है। उनके असमय चले जाने से उनके विधानसभा क्षेत्रवासी भी सन्न रह गए हैं। विधायक जीना कोरोना से संक्रमित थे और दिल्ली में अपना इलाज करा रहे थे, दिल्ली में इलाज के दौरान ही उनका निधन हुआ है। बता दें कि बीते माह ही उनकी पत्नी का भी निधन हो गया था।

विधायक सुरेन्द्र सिंह जीना के निधन पर प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द्र अग्रवाल सहित अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने श्रद्धांजलि देते हुए लिखा है कि सुरेन्द्र सिंह जीना जी के निधन से उत्तराखंड ने एक ऊर्जावान और दूरदर्शी नेता खो दिया है। हाल ही में उनकी पत्नी के निधन पर मैं उनसे उनके आवास में मिला था। उस वक़्त मुझे बिल्कुल भी एहसास नहीं था कि जीना जी हमें छोड़कर चले जाएंगे। उनकी गणना सर्वाधिक सक्रिय रहने वाले विधायकों में थी। वे वंचित वर्गों की आवाज़ मुखर करने वाले तथा अपने विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए सतत संघर्षरत रहने वाले जनसेवक थे। परमपिता परमेश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें तथा शोक संतप्त परिवारजनों को इस दु:ख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा है कि संगठन व जनहित कार्यों में सक्रिय भाजपा नेता एवं सल्ट विधायक सुरेंद्र जीना जी के निधन का अत्यंत दुःखद समाचार प्राप्त हुआ, उनके निधन से पार्टी व समाज को अपूर्णनीय क्षति पहुँची है। कुछ दिनों पूर्व उनकी पत्नी का भी आकस्मिक निधन हुआ था और अब उनके निधन से परिवार पर अवर्णनीय दुःख आ पड़ा है। ईश्वर से प्रार्थना है कि यह दोहरा दुःख सहन करने की परिवार को शक्ति प्रदान करें।
वहीं विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चन्द्र अग्रवाल ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि प्रभावी व्यक्तित्व के धनी एवं विधायी कार्यवाही के जानकार सुरेंद्र सिंह जीना के निधन की खबर सुनकर शोक स्तब्ध हूं। वे सदन में क्षेत्र एवं समाज के हितों के लिए अपनी आवाज बुलंद करते थे। वे पक्ष एवं विपक्ष दोनों के लिए ही एक प्रिय नेता थे। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि संसदीय प्रक्रिया के गहन जानकार और हमेशा लोक महत्व के अविलंबनीय मुद्दों को सदन में उठाने वाले एक सजग प्रहरी का निधन उत्तराखंड के लिए अपूरणीय क्षति है। उनकी बेदाग छवि, हंसमुख मुस्कान एव समाज के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा हमारे लिए हमेशा प्रेरणा स्रोत का कार्य करेगा।