Home उत्तराखंड प्रदेश में इन दिशा-निर्देशों के साथ 15 दिसंबर से खुलेंगे विश्वविद्यालय व...

प्रदेश में इन दिशा-निर्देशों के साथ 15 दिसंबर से खुलेंगे विश्वविद्यालय व महाविद्यालय।

432
SHARE

उत्तराखंड में विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों में ऑफलाइन पढ़ाई शुरू करने के लिए राज्य सरकार ने गाइडलाइन जारी की जिसके तहत सभी विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों को छात्रों की उपस्थिति के संबंध में अभिभावकों की सहमति लेना अनिवार्य होगा जिसमें अभिभावकों को विश्वविद्यालय अपनी कार्य योजना से अवगत कराएगा यदि अभिभावक शिक्षा के छात्र छात्राओं को महाविद्यालय भेजने के लिए सहमत होते हैं तो ही छात्र-छात्राएं कॉलेज जा पाएंगे

महाविद्यालय उन पर कोई दबाव नहीं बनाएगा इसके अलावा प्रथम सेमेस्टर मैं जिन विषयों में थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों पड़े जाने अनिवार्य हैं उन्हीं में ही ऑफलाइन कक्षाएं प्रारंभ की जाएंगी अंतिम सेमेस्टर की कक्षाएं जिनमें प्रैक्टिकल अनिवार्य हैं वह भी इसी प्रकार खुलेंगे प्रथम सेमेस्टर व अंतिम सेमेस्टर की कक्षाओं के संचालन के लिए इस तरीके के आदेश जारी होंगे कक्षाओं का संचालन पारियों में किया जाएगा सेक्शन बढ़ाए जाएंगे अल्टरनेट डेज में कक्षाओं का संचालन होगा वहीं जिन विषयों में केवल थ्योरी पढ़ाई जाती है और प्रैक्टिकल की अनिवार्यता नहीं है वहां ऑनलाइन मोड से ही पठन-पाठन पूर्व की भांति किया जाएगा
जिन विषयों में थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों पढ़ाए जाते हैं उनमें ऑनलाइन के माध्यम से पूरी पढ़ाई जाएगी प्रैक्टिकल के लिए संबंधित शिक्षण संस्थान बैच बनाकर प्रैक्टिकल संचालन कराएंगे प्रैक्टिकल सब्जेक्ट से संबंधित जो कक्षाएं ऑफलाइन मोड में संचालित नहीं होगी वहां वर्चुअल लैब का प्रयोग किया जाएगा चिकित्सा शिक्षा से संबंधित संस्थानों के संबंध में चिकित्सा विभाग द्वारा अलग से जान कारी दी जाएगी राज्य के बाहर से आने वाले छात्र-छात्राओं को आरटी पीसीआर टेस्ट कराना अनिवार्य होगा उच्च शिक्षण संस्थानों में किसी छात्र शिक्षक स्टाफ आदि के कोरोनावायरस पाए जाने पर संबंधित जिलाधिकारी मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी द्वारा प्राथमिकता के आधार पर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी शैक्षिक संस्थान द्वारा दी जाने वाली ट्रांसपोर्ट फैसिलिटी पूर्व की भांति दी जाती रहेगी भौतिक रूप से कक्षाएं फिर से प्रारंभ करने के लिए अनुमति देने के लिए अपेक्षित तैयारी सभी निर्देशों और गाइडलाइन के अनुसार किया जाएगा जिसके तहत महाविद्यालय विश्वविद्यालय को खोले जाने से पूर्व पूरी तरह से ने टाइप किया जाएगा प्रत्येक संस्थागत छात्र छात्राओं को महाविद्यालय में अनिवार्य रूप से मास्क पहन कर आना होगा
महा विद्यालय भवन के मुख्य द्वार पर ही सैनिटाइजर हैंड वॉश थर्मल स्कैनिंग और प्राथमिक उपचार की व्यवस्था की जानी होगी किसी भी शिक्षक कर्मचारी विद्यार्थी को खांसी जुकाम बुखार के लक्षण होने पर प्राथमिक उपचार देते हो वापस घर भेजा जाएगा छात्र-छात्राओं की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए महाविद्यालय में शिक्षण कार्यों की समय सारणी इस प्रकार बनाई जाएगी ताकि अलग-अलग समय पर विद्यार्थी महाविद्यालय में प्रवेश करें छात्र-छात्राओं को कक्षा में 6 फीट की दूरी पर बैठने की व्यवस्था की जाएगी