Home अपना उत्तराखंड बादल फटने से आई आपदा, भूस्‍खलन के चलते पूरा घर तबाह हो...

बादल फटने से आई आपदा, भूस्‍खलन के चलते पूरा घर तबाह हो गया

1936
SHARE

चमोली/गैरसैंण: 30 जून को मां की तेरहवी से एक दिन पहले इलाके में ऐसी प्राकृतिक आपदा आई और सबकुछ खत्म हो गया। भूस्‍खलन के चलते पूरा घर तबाह हो गया। घरवालों ने भागकर अपनी जान बचाई।घटना 28 जून देर रात की है। चमोली जनपद के गैरसैंण के सेंजी वार्ड में कुदरत का कहर बरपा। भारी बारिश के बाद यहां बादल फट गया। जिससे इलाके में रह रहे प्रेम सिंह का मकान और दो गौशाल पूरी तरह से ध्वस्त हो गया।बता दें कि 30 जून शुक्रवार को प्रेम सिंह की मां की तेरहवीं होनी है। इसके लिए उन्होंने कार्यक्रम हेतू सामान घर में जमा किया था। लेकिन, भूस्‍खलन के चलते सबकुछ तबाह हो गया।रात के वक्त कुदरत का कहर इस कदर बरपा कि परिवारवालों ने देर रात घर से भागकर अपनी जान बचाई। इनकी माता का 11 दिन पूर्व देहांत हो गया था। गांव के छह-सात घरो में पानी व मलबा घुस गया है। किसी प्रकार की जन हानि नहीं हुई है।उधर, सूचना पर पुलिस और प्रशासन की टीम सुबह साढ़े छह बजे मौके पर पहुंची और इलाके का जायजा लिया। बता दें कि प्रेम सिंह कठैत (36 वर्ष) पुत्र बलवन्त सिंह निवासी ग्राम सैजी थाना गैरसैण व उनके भाई खीम सिंह (30 वर्ष) पुत्र बलवन्त सिंह का पूरा मकान क्षतिगस्त हो गया। मकान में दो-दो कमरे थे।