Home अपना उत्तराखंड उत्तराखंड : तीन तलाक पर शौहर के खिलाफ पहला मुकदमा दर्ज

उत्तराखंड : तीन तलाक पर शौहर के खिलाफ पहला मुकदमा दर्ज

344
SHARE

देहरादून : केंद्र सरकार के तीन तलाक कानून को मंजूरी के बाद उत्तराखंड में पहला मुकदमा दर्ज हुआ है। सहसपुर क्षेत्र की पीड़ि‍त महिला ने शौहर के उत्पीड़न और मारपीट से तंग आकर यह मुकदमा दर्ज कराया है। महिला का कहना है कि 15 सालों से वह शौहर का उत्पीड़न झेल रही थी, लेकिन अब कानून बनने से वह न्याय पाने के लिए आगे आई है। न्याय मिलने तक वह संघर्ष जारी रखेगी। इधर, सहसपुर पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए प्रकरण की जांच शुरू कर दी है।

सहसपुर के केदारवाला निवासी शमा ने एसएसपी को लिखे गए पत्र में कहा कि बुधवार रात उसके शौहर असलम ने बिना बात मारपीट कर दी। इससे महिला को काफी चोट पहुंची है। पति की मारपीट के बाद जान बचाते हुए महिला गांव के प्रधान इमरान खान के पास न्याय मांगने गई। आरोप है कि यहां भी पीछे से आए शौहर असलम ने दोबारा मारपीट कर दी। आरोप है कि इसी दौरान असलम ने शमा को तीन तलाक दे दिया। बीबी ने शौहर को रोकने का काफी प्रयास किया, लेकिन वह धक्का देकर चला गया। इसके बाद प्रधान ने भी हाथ खड़े कर दिए। निराश होकर रात को ही पीड़ि‍त माता-पिता को फोन कर सहसपुर थाने पहुंची। महिला का आरोप है कि थाने में रात को कोई सुनवाई नहीं हुई।

इस पर वह गुरुवार दिन में एसएसपी दफ्तर पहुंची, जहां एसएसपी के न मिलने पर शिकायत प्रकोष्ठ में शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद एसएसपी दफ्तर में दी गई अर्जी दोबारा थाने में दी गई। मामला एसएसपी निवेदिता कुकरेती के संज्ञान में आया तो उन्होंने थाना पुलिस को तत्काल मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए। एसएसपी ने बताया कि देर रात सहसपुर पुलिस ने मारपीट और कानून में किए गए प्रावधान के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है। महिला को कानून के मुताबिक सुरक्षा और न्याय दिया जाएगा।15 साल पहले हुई थी शादी

पीड़ि‍त महिला ने बताया कि उसकी 15 साल पहले शादी हुई थी। उसके दो बच्चे हैं। शौहर पहले से मारपीट करता आ रहा है। बच्चों के भविष्य से चिंतित वह हर बार मारपीट शह रही थी। मगर, अब कानून बनने की जानकारी मिलते ही वह न्याय के लिए आगे आई है। महिला ने कहा कि न्याय पाने तक वह संघर्ष जारी रखेगी।

हम नहीं मानते भाजपा का कानून

महिला का आरोप है कि प्रधान इमरान ने असलम के सामने ही कहा कि भाजपा सरकार के बनाए गए नियम-कानून को हम नहीं मानते हैं। हम कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता हैं। तुम्हें जहां जाना जा लो। कोई सुनने वाला नहीं है। बोली एसएसपी

निवेदिता कुकरेती (एसएसपी, देहरादून) का कहना है कि  यह मामला बेहद गंभीर है। तहरीर मिलने के बाद महिला की तरफ से शौहर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पीड़ि‍ता को पुलिस पूरी सुरक्षा और न्याय दिलाएगी।