Home अंतर्राष्ट्रीय Buenos Aires ATP Challengers title जीतकर ‘सुमित नागल’ ने रच दिया इतिहास..

Buenos Aires ATP Challengers title जीतकर ‘सुमित नागल’ ने रच दिया इतिहास..

342
SHARE
Buenos Aires ATP Challengers Tournament: इस जीत के बाद सुमित एटीपी की ओर जारी होने वाली ताजा एटीपी रैंकिंग में 159वें नंबर से 135वें नंबर पर पहुंच जाएंगे. सुमित के इस फाइनल मैच के दौरान अर्जेंटीना में भारत के राजदूत दिनेश भाटिया और काफी संख्या में भारतीय दर्शक भी मौजूद थे

भारत के उभरते स्टार टेनिस खिलाडी सुमित नागल (Sumit Nagal) ने इतिहास रचते हुए अर्जेंटीना में खेले गए ब्यूनस आयर्स एटीपी चैलेंजर्स टेनिस टूर्नामेंट (Buenos Aires ATP Challengers Tournament) का खिताब जीत लिया है. 22 वर्षीय सुमित के करियर में घर के बाहर जीता गया अब तक का यह पहला खिताब हैं. सातवीं सीड सुमित (Sumit Nagal) ने रविवार रात खेले गए फाइनल में अर्जेंटीना के खिलाड़ी फाकुंडो बैगनिस को सीधे सेटों में 6-4, 6-2 से मात देकर खिताब अपने नाम किया.

भारतीय खिलाड़ी ने एक घंटे 37 मिनट में यह मुकाबला जीता. सुमित को हाल में बांजा लूका चैलेंजर्स के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस बार उन्होंने कोई गलती नहीं की और ब्यूनस आयर्स एटीपी चैलेंजर्स खिताब जीतकर ही दम लिया. भारतीय खिलाड़ी ने 2017 में बेंगलुरु में अपना पहला खिताब जीता था.

इस जीत के बाद सुमित एटीपी की ओर जारी होने वाली ताजा एटीपी रैंकिंग में 159वें नंबर से 135वें नंबर पर पहुंच जाएंगे. सुमित के इस फाइनल मैच के दौरान अर्जेंटीना में भारत के राजदूत दिनेश भाटिया और काफी संख्या में भारतीय दर्शक भी मौजूद थे, जोकि सुमित का हौसला बढ़ा रहे थे. सुमित साउथ अमरीकन क्ले पर खिताब जीतने वाले पहले भारतीय बन गए हैं, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड को जन्म दे देता है.

उन्होंने इस खिताबी जीत के बाद कहा, “यह काफी शानदार था. मैं यहां अकेले आया था. मेरे साथ मेरे कोच (सासा नेंनसेल) और ट्रेनर (मिलोस गागेलिक) भी नहीं थे. कोच के बिना खेलना मुश्किल होता है, लेकिन अब यहां ट्रॉफी उठाना मेरे लिए वाकई शानदार है और मुझे खुद पर गर्व है” उन्होंने कहा, “आज मैं यहां खिताब जीता हूं और अब मुझे अगले सप्ताह ब्राजील जाना है. जहां एक और चैलेंजर टूर्नामेंट खेलना है. इसलिए मेरे पास इस जीत का जश्न मनाने का समय नहीं है. मुझे अभी भी काफी मेहनत करने की जरूरत है ताकि मैं अपने प्रदर्शन में और सुधार कर सकूं”

सुमित ने पिछले महीने ही अपने पहले ग्रैंड स्लैम अमरीकी ओपन के पहले राउंड में टेनिस के बादशाह स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर को पहला सेट हराया था और तब फेडरर ने कहा था कि ये भारतीय खिलाड़ी काफी आगे तक जा सकते हैं. सुमित का यह खिताब जीतना बताता है कि वह अब इसी राह पर चल पड़े हैं.