Home उत्तराखंड श्रीदेवसुमन विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. पी. पी. ध्यानी ने किया जोशीमठ परीक्षा...

श्रीदेवसुमन विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. पी. पी. ध्यानी ने किया जोशीमठ परीक्षा केंद्र का औचक निरीक्षण, दिए महत्वपूर्ण निर्देश।

245
SHARE

श्रीदेव सुमन उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय के कुलपति डा. पी. पी. ने शनिवार को राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय जोशीमठ का औचक निरीक्षण किया, महाविद्यालय में विश्वविद्यालय की विभिन्न परीक्षाएं संचालित की जा रही हैं। प्रथम पाली में औचक निरीक्षण के दौरान कुलपति डॉ. पी. पी. ध्यानी को महाविद्यालय में सभी व्यवस्थायें चाक-चौबंद मिली कोई भी अवांछनीय अनुचित सामग्री महाविद्यालय में नहीं पायी गयी।

महाविद्यालय में कोविड संक्रमण के दृष्टिगत कॉलेज प्रशासन द्वारा परीक्षा आरंभ होने से पूर्व चिकित्सा विभाग की टीम  द्वारा परीक्षा में उपस्थित  छात्र-छात्राओं की  थर्मल  स्कैनिंग की जा रही है, तथा सैनिटाइजर से सम्बन्धित समस्त व्यवस्थायें चाक चौबन्द पायी गयी, उपस्थित समस्त छात्र-छात्राओं द्वारा भारत सरकार, राज्य सरकार एवं विश्वविद्यालय द्वारा जारी किये गये कोविड-19 के निर्देशों का पालन किया गया, सभी छात्रों द्वारा मास्क का उपयोग किया गया, आपसी दूरी का भी विशेष ध्यान रखा गया।  वर्तमान में महाविद्यालय में लगभग 450  छात्र/छात्रायें विभिन्न कक्षाओं में अध्ययनरत  हैं, तथा महाविद्यालय में लगभग 15 फैकल्टी हैं।

कुलपति डॉ पी. पी. ध्यानी द्वारा वर्ष 2020- 21 से महाविद्यालय में बी०ए० संस्कृत,  भूगोल और बी०एस०सी कंप्यूटर साइंस खुले जाने पर क्षेत्रीय जनता, छात्र-छात्राओं एवं अध्यापकों ने विश्वविद्यालय का हृदय से आभार प्रकट किया गया। सीमांत क्षेत्र के दृष्टिगत कुलपति द्वारा प्राचार्य को निर्देशित किया गया कि महाविद्यालय में छात्र छात्राओं हेतु व्यवसायिक पाठ्यक्रम में रोजगारपरक पाठ्यक्रम को लेने हेतु विश्वविद्यालय में आवेदन कर सकते हैं। इस क्षेत्र में  होटल मैनेजमेंट,  साहसिक पर्यटन और आपदा प्रबंधन इत्यादि   की अति आवश्यकता है ।

कुलपति द्वारा उच्च शिक्षा के उन्नयन हेतु महाविद्यालय में कार्यरत शिक्षकों से अपने विचार  साझे किये जिसमें शिक्षकों द्वारा भी अपने विचारे कुलपति के सम्मुख रखे गये। आज औचक निरीक्षण के दौरान कुलपति के साथ मान्यता प्रभारी सुनील राजकीय स्नातकोत्तर कॉलेज  जोशीमठ  के प्राचार्य  प्रो० वी०एन०खली, डॉ० गोपाल  कृष्णा, डॉ० सुमन राणा, डॉ० चरण सिंह, डॉ० मुकेश चंद, डॉ०राहुल तिवारी, डॉ० आनंद कुमार, डॉ०पवन कुमार आदि उपस्थित थे।