Home उत्तराखंड सोमवार को अशांत नजर आई उत्तराखंड की शांत वादियां, अलग-अलग घटनाओं में...

सोमवार को अशांत नजर आई उत्तराखंड की शांत वादियां, अलग-अलग घटनाओं में देर रात तक जमकर हुआ बवाल।

877
SHARE

सोमवार को उत्तराखण्ड की शांत वादियां अशांत नजर आई, प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों से बवाल की खबरें सामने आई। प्रदेश के ऊधमसिंहनगर जनपद के रूद्रपुर कल देर रात तक जमकर बवाल हुआ, यहां  देर रात चेकिंग के दौरान सीपीयू कर्मी पर बाइक सवार दो युवकों से मारपीट का आरोप लगा। सोमवार रात करीब 9 बजे रम्पुरा क्षेत्र निवासी दीपक कुमार और प्रेम लाल बाइक पर इंदिरा चौक की ओर पेट्रोल पंप पर जा रहे थे। इसी दौरान चेकिंग कर रही सीपीयू ने उन्हें रोक लिया। आरोप है कि कहासुनी के बाद सीपीयू कर्मी दोनों से मारपीट करने लगे एक सीपीयू कर्मी ने बाइक की चाबी छीन ली विरोध पर उसने युवक के माथे पर बाइक की चाबी घोंप दी।

इससे युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। मामले में देर रात एसएसपी ने तीन सीपीयू कर्मियों को निलंबित कर दिया। घटना के बाद रम्पुरा की सड़कों से लेकर कोतवाली तक दो घंटे से भी अधिक समय तक बवाल हुआ, गुस्साए लोगों ने पुलिस कर्मियों पर पथराव कर दिया। बाद में पुलिस ने लाठिया फटकार कर हंगामाइयों को खदेड़ा। बाद में वरिष्ठ अधिकारियों के पहुंचने पर मामला संभला, वहीं विधायक ने हाथ जोड़कर लोगों को किसी तरह मनाया।

गरमपानी व हल्द्वानी में भी देर रात जमकर हुआ बवाल-

वहीं दो अलग- अलग मामलों में हल्द्वानी व गरमपानी में भी सोमवार देर रात जमकर बवाल हुआ दोनों ही मामलों आरोपी मौके से फरार होने में कामयाब रहे। स्थानीय मीडिया रिपोर्टस के अनुसार सोमवार देर रात कुछ बाहरी युवक गरमपानी में धारी-खैरनी के समीप बलियाली गांव में जमीन खरीदने के लिए पहुंचे थे। इस बीच ग्रामीणों ने बाहरी लोगों को जमीन नहीं बेचने की बात कही, इसी बात को लेकर विवाद शुरू हो गया। मामला इतना बढ़ा कि नौबत हाथापाई तक जा पहुंची, जिसके बाद गांव में झगड़ा शुरू हो गया। जिसके बाद देर रात गांव के लगभग 200 ग्रामीण एकत्रित हो गए।

हालांकि बाहरी युवक मौका पाते ही क्षेत्र से फरार हो गए ग्रामीणों ने गांव में हवाई फायर किए जाने का भी आरोप लगाया है राजस्व पुलिस ने क्षेत्र से एक कार में पिस्टल तथा जिंदा कारतूस बरामद किया है जिसके बाद पुलिस टीम ने जंगल में सर्च अभियान शुरू कर दिया। फरार युवकों का अब तक पता नहीं चल पाया है, ग्रामीणों ने प्रकरण में युवकों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है चेतावनी दी है कि यदि तत्काल कार्रवाई नहीं की जाती तो वहां मंगलवार को गांव में ही धरने पर बैठेंगे।

वहीं एक पुराने मामले में मुरादाबाद पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने हल्द्वानी पहुंची थी, परिजनों को इसकी भनक लगी तो परिजनों ने पुलिस को अब्दुल बिल्डिंग परिसर में घेर लिया। इसके बाद परिजनों ने मुरादाबाद और मंगल पड़ाव चौकी पुलिस से अभद्रता करते हुए हंगामा कर दिया। करीब आधे घंटे से अधिक वक्त चले बवाल के दौरान जब तक पुलिस परिजनों को हटाती, आरोपी मौके से फरार हो गई।

पुलिस के मुताबिक 2019 में महिला अबीरा खुसरो ने अब्दुल्ला बिल्डिंग में रहने वाले पति अब्दुल हारिस, ससुर अब्दुल और आदि दहेज अधिनियम में मुकदमा दर्ज कराया था। मुरादाबाद कोर्ट ने अब्दुल हारिस और मां के विरुद्ध गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। हारिस की मां को पुलिस मार्च में गिरफ्तार कर चुकी है, सोमवार हारिस के खिलाफ वारंट लेकर आई थी।

राममनगर में अतिक्रमण हटाने गई वन-विभाग की टीम पर हमला-

वहीं रामनगर में अतिक्रमण हटाने गई टीम पर अतिक्रमणकारियों ने हमला कर दिया। ग्रामीणों ने पूरी टीम को घेर लिया और जमकर पिटाई की। सोमवार को हुई इन अलग-अलग घटनाओं से प्रदेश का माहौल काफी अशांत रहा मामलों को शांत करने के लिए पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी।