Home उत्तराखंड श्री गुरू राम राय पी. जी. कॉलेज देहरादून में दो दिवसीय पॉपुलर...

श्री गुरू राम राय पी. जी. कॉलेज देहरादून में दो दिवसीय पॉपुलर साइंस लैक्चर सीरीज का शुभारंभ।

534
SHARE

श्री गुरु राम राय पी जी कॉलेज देहरादून में दो दिवसीय पॉपुलर साइंस लेक्चर सीरीज का शुभारंभ हुआ। लेक्चर सीरीज का उद्घाटन कॉलेज के प्राचार्य प्रो. वी ए बौड़ाई एवं प्रो. मोनोजित रे ने दीप प्रज्वलित करके किया। भारतवर्ष में यूजीसी द्वारा केवल 32 कॉलेजो को सीपीई (कॉलेज विद पोटेंशियल फ़ॉर एक्सीलेंस) का स्टेटस प्रदान किया हुआ है उन 32 कॉलेजों में से श्री गुरु राम राय पी जी कॉलेज भी एक है। जिन कॉलेजों को सीपीई का स्टेटस मिला हुआ है वहाँ के प्रोफेसर एक दूसरे कॉलेज के पहुंच कर विज्ञान के क्षेत्र में हो रही प्रगति को व्याख्यान के रूप में सांझा कर छात्रों का मार्गदर्शन करेंगे। इसी क्रम में आज बैरकपुर राजगुरु सुरेन्द्रनाथ कॉलेज कोलकाता के विख्यात वैज्ञानिक एवं प्राचार्य प्रोफेसर मोनोजित रे में अपना व्याख्यान “आयन ट्रांसपोर्ट थ्रू बायोलॉजिकल सिस्टम” विषय पर दिया। प्रो मोनोजित रे ने रसायन शास्त्र में बहुत काम किया है इनके अनेक पेटेंट एवं पब्लिकेशन है। आज के व्याख्यान में श्री गुरु राम राय पी जी कॉलेज एवं उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के एमएससी रसायन विज्ञान के छात्र/ छात्राओं एवं शोधार्थियों ने प्रतिभाग किया।

उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के छात्र प्रोफेसर मोनोजित रे से मिलकर अत्यंत उत्साहित हुए। मोनोजित रे ने कहा अगर छात्र में कुछ जानने की जिज्ञासा हो तो वो ओपन यूनिवर्सिटी से पढ़कर भी कुछ नया कर सकता है। प्रोफेसर मोनोजित रे ने कोलकाता से लाये स्पेशल मास्क भी छात्रों को वितरित किये। अपने उद्बोधन में महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो वी ए बौड़ाई ने कहा कि प्रोफेसर मोनोजित रे का महाविद्यालय में आकर यहां के छात्रों के साथ अपने विचार साझा करने से बच्चों का विज्ञान के प्रति और रुझान पैदा होगा।

प्रो बौड़ाई ने डॉ मोनोजित रे को श्री केदारनाथ की रेप्लिका भेंट की। डॉ संदीप नेगी ने मंच का संचालन किया। प्रोफेसर ऐ के गुप्ता ने प्रो मोनोजित रे एवं अन्य शिक्षकों का धन्यवाद को धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के चीफ प्रॉक्टर डॉ एच् वी पंत, डॉ दीपाली सिंघल, डॉ राकेश ढौडियाल, डॉ हरीश चंद्रा, डॉ श्यामवीर सिंह, डॉ मनोज पुरोहित, डॉ आनंद कुमार, डॉ महेश कुमार सहित अनेक शिक्षक, शिक्षणेत्तर कर्मचारी एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।