Home उत्तराखंड पर्यावरण संरक्षण का संदेश देता है हरेला पर्व- प्रो. एन. के. जोशी।

पर्यावरण संरक्षण का संदेश देता है हरेला पर्व- प्रो. एन. के. जोशी।

214
SHARE

उत्तराखण्ड का लोक पर्व हरेला पूरे प्रदेश में धूम धाम से मनाया गया। इस मौके पर विभिन्न संस्थानों, सामाजिक संगठनों व शिक्षण संस्थानों ने वृक्षारोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लिया। हरेला पर्व के अवसर पर कुमाऊँ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो० एन० के० जोशी द्वारा प्रशासनिक भवन में पौधारोपण कर वृहद वृक्षारोपण अभियान की शुरुआत की गई। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के शिक्षकों, कर्मचारियों एवं अध्ययनरत एक लाख के करीब विद्यार्थियों के द्वारा अपने-अपने स्थानों पर वृक्षारोपण किया गया। विश्वविद्यालय द्वारा गोद लिए गये 5 गावों के साथ ही गुफ़ा महादेव मंदिर के पास कृष्णापुर में भी वृक्षारोपण किया गया।

विश्वविद्यालय के प्रशासनिक परिसर में वृक्षारोपण कार्यक्रम में पहुंचे कुलपति प्रो० जोशी का राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ट के समन्वयक डा० विजय कुमार ने स्वागत किया। इस दौरान प्रो. जोशी ने कहा कि हरेला पर्व पर्यावरण संरक्षण का संदेश के साथ ही हरित लवक के प्रकाश संश्लेषण में उर्जा बनने का पर्व है, जो सतत विकास का संदेश देता है। उन्होंने कहा कि पीला रंग उन्नति और संपन्नता का द्योतक है। हरेले की मुलायम पंखुड़ियां रिश्तों में मधुरता, प्रगाढ़ता प्रदान की द्योतक होती है। प्रशासनिक भवन परिसर में इस मौके ओर अखरोट, पद्म, जामुन, बांज आदि के पौंधे लगाए गए। कार्यक्रम में प्रो० ललित तिवारी, प्रो० हरीश बिष्ट, डा० सुचेतन साह, डा० रितेश साह, डा० मनोज आर्या, डा० सोहेल जावेद, संजय पंत आदि उपस्थित रहे।