Home उत्तराखंड बागेश्वर जनपद के लिए गौरव का पल, काफलिगैर निवासी प्रो. दीवान सिंह...

बागेश्वर जनपद के लिए गौरव का पल, काफलिगैर निवासी प्रो. दीवान सिंह रावत बने दिल्ली यूनिवर्सिटी के डीन।

418
SHARE

उत्तराखंड के बागेश्वर जनपद में उस वक्त खुशी की लहर दौड़ जब क्षेत्रवासियों को खबर मिली की काफलिगैर तहसील के रखोली निवासी दीवान सिंह रावत दिल्ली यूनिवर्सिटी के डीन बनाए गए हैं। दीवान सिंह यूनिवर्सिटी में रसायन विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष पद पर तैनात थे। उनके डीन बनने पर क्षेत्र में खुशी का माहौल है। गत वर्ष भी उन्होंने एक बड़ी उपलब्धि अपने नाम की थी लंबी रिसर्च के बाद उन्होंने लाइलाज बीमारी पार्किंसन की दवाई खोजी थी, वे इस दवा को खोजने वाले प्रथम वैज्ञानिक हैं। प्रो. दीवान सिंह रावत जुलाई 2003 में एक रीडर के रूप में विभाग में शामिल हुए और मार्च 2010 में प्रोफेसर के पद पर पदोन्नत हो गए उन्होंने 1993 में कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल से अपनी मास्टर डिग्री प्राप्त की और विश्वविद्यालय में प्रथम स्थान हासिल करने के लिए योग्यता प्रमाण पत्र से सम्मानित हुए

उन्होंने अपनी पीएचडी केंद्रीय औषधि अनुसंधान संस्थान लखनऊ से औषधि रसायन विज्ञान में उन्होंने फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्री में दो साल काम किया और इंडियाना यूनिवर्सिटी और पडर्यू यूनिवर्सिटी यूएस में पोस्टडॉक्टोरल काम किया। वह 2003 में दिल्ली विश्वविद्यालय में शामिल होने से पहले नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च में औषधिय रसायन विज्ञान के सहायक प्रोफेसर थे।

प्रोफेसर रावत नेचर साइंटिफिक रिपोर्ट्स और आरएससी एडवांस, इंटरनेशनल जर्नल ऑफ ड्रग डिस्कवरी के एसोसिएट एडिटर हैं और मेडिसिन केमिस्ट्री में एंटी कैंसर एजेंट्स के एडिटोरियल एडवाइजरी बोर्ड और मरीन ड्रग्स में भी काम करते हैं। उन्होंने औषधीय रसायन विज्ञान और वर्तमान प्रोटीन और पेप्टाइड विज्ञान में कैंसर विरोधी एजेंटों के अतिथि संपादक के रूप में कार्य किया।