Home उत्तराखंड प्रदेश में कोरोना वायरस के अलर्ट के बाद भी जनरल ओबीसी कर्मचारी...

प्रदेश में कोरोना वायरस के अलर्ट के बाद भी जनरल ओबीसी कर्मचारी बेमियादी हड़ताल पर डटे।

213
SHARE

प्रमोशन में आरक्षण खत्म करने की मांग को लेकर कार्मिक बेमियादी हडताल पर डटे हुए हैं। प्रदेश में कोरोना वायरस के अलर्ट के बाद जनरल ओबीसी कर्मचारी मुंह पर मास्क लगाकर धरना कार्यक्रम में शामिल हो रहे हैं। इस दौरान उत्तराखंड जनरल ओबीसी इंप्लाइज एसोसिएशन की ओर से कर्मचारियों को मास्क और सेेनिटाइजर का वितरण भी किया गया। मंगलवार को कर्मी अपने परिवार के साथ धरना देंगे।

कर्मचारी नेताओं ने प्रदेश सरकार की चुप्पी पर नाराजगी जाहिर की है, उन्होंने सरकार पर हठधर्मिता का आरोप लगाया। उन्होंने चेतावनी दी कि जब तक सरकार प्रमोशन पर लगी रोक नहीं हटाएगी, तो हड़ताल जारी रहेगी।

सोमवार को आंदोलन का नेतृत्व कर रहे कर्मचारियों ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर एक मेडिकल डेस्क भी बनाई। इस डेस्क के माध्यम से कर्मचारियों को मास्क बांटे गए और  सैनिटाइजर दिए गए। खांसी, जुकाम या वायरल से पीड़ित कर्मचारियों से घर पर रहने की अपील की गई।

उत्तराखंड जनरल ओबीसी इंप्लाइज एसोसिएशन ने आम जनता के बीच एक अपील जारी की। जिसमें यह बताने का प्रयास किया कि एसोसिएशन को अनिश्चितकालीन हड़ताल करने का फैसला क्यों करना पड़ा ? अपील में कहा गया कि ये आंदोलन किसी जाति, मजहब के खिलाफ नहीं है। न ही वेतन भत्तों की मांग को लेकर है। एसोसिएशन ने यह आंदोलन प्रमोशन पर अकारण रोक लगाए जाने के खिलाफ छेड़ा है। सुप्रीम कोर्ट से फैसला आने के बाद भी सरकार ने रोक नहीं हटाई है। जनता से एसोसिएशन ने आम जनता से सहयोग की अपील की है।