Home उत्तराखंड प्रदेश में 16 मार्च से चरमरा सकती हैं स्वास्थ्य सेवाएं, लोगों की...

प्रदेश में 16 मार्च से चरमरा सकती हैं स्वास्थ्य सेवाएं, लोगों की बढेगी परेशानी।

107
SHARE
www.uihmt.com

उत्तराखण्ड में प्रमोशन में आरक्षण खत्म करने की मांग को लेकर जनरल-ओबीसी कर्मचारी हड़ताल पर हैं। कर्मचारियों की हडताल से सरकारी कामकाज पर खासा प्रभाव पड़ा है। जनरल-ओबीसी कर्मचारी संगठन को अब अन्य संगठनों का साथ भी मिलने लगा है। डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन के साथ नर्सेज एसोसिएशन ने भी 16 मार्च से पूरी तरीके से कार्य बहिष्कार करने का ऐलान कर दिया है, एसोशिएसन का कहना है कि यदि सरकार ने 16 मार्च तक जनरल ओबीसी मोर्चा की प्रमोशन में आरक्षण खत्म करने की मांग को नहीं माना, तो वह कार्य नहीं करेंगे जिसकी वजह से ना तो अस्पतालों में दवाई मिल पाएंगी और ना ही इलाज हो पाएगा।

 

डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन व नर्सेज एसोसिएशन का कार्य बहिष्कार का ऐलान प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को चरमरा सकता है।जिससे आम जनता को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। प्रदेश में कोरोना वायरस को लेकर पहले से ही अलर्ट जारी है ऐसे में यदि अस्पतालों में तैनात कर्मचारी हड़ताल पर होंगे तो हालात और अधिक खराब हो सकते हैं। सबसे अधिक परेशानी असपतालों में भर्ती मरीजों को उठानी पड़ सकती है।