Home उत्तराखंड पोस्टमैन घर आकर बनाएंगे जीवन प्रमाण पत्र, उत्तराखण्ड के दूरस्थ क्षेत्रों में...

पोस्टमैन घर आकर बनाएंगे जीवन प्रमाण पत्र, उत्तराखण्ड के दूरस्थ क्षेत्रों में रहने वाले पेंशनधारकों के लिए राहत की खबर।

269
SHARE

उत्तराखण्ड में पेंशनधारकों के लिए राहत की खबर है। पेंशनधारकों को अब जीवन प्रमाण पत्र बनाने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। अब पोस्टमैन घर आकर पांच मिनट में डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र बनाकर देंगे। इसके लिए 70 रूपए की फीस देनी होगी। पेशनधारकों को जीवन प्रमाण पत्र बनवाने के लिए अपने क्षेत्र के पोस्टमैन से संपर्क कर सकते हैं। पेंशनधारक पोस्ट ऑफिस जाने के साथ ही घर पर भी डिजीचल जीवन प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। डाक विभाग के इंडियन पोस्टल पेमेंट बैंक (आईपीपीबी) के माध्यम से यह सर्टिफिकेट बनवाया जा सकता है, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में भी पोस्ट ऑफिस से यह बन सकता है। इससे पहले इस प्रमाण पत्र के लिए सर्विस सेंटर या बैंक के चक्कर लगाने पड़ते थे।

जीवन प्रमाण पत्र बनाने के लिए पेंशनर के पास आधार कार्ड या आधार नंबर होना आवश्यक है। इसके साथ ही पीपीओ नंबर, मोबाइल नंबर भी डाकघर में देना होगा। पोस्टमैन आधार के माध्यम से डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र जारी करेंगे और यह खुद ही पेंशन जारी करने वाले संबंधित विभाग या बैंक में अपडेट हो जाएगा। मगर इससे पहले डिजिटल सर्टिफिकेट के लिए पेंशनरों को एक खास प्रमाण आईडी भी बनानी होगी। यह विशिष्ट आईडी होती है। इसका फायदा केन्द्र व राज्य सरकार के पेंशनधारक भी उठा सकते हैं।

पेंशनधारकों को जीवन प्रमाण पत्र बनाने के लिए आधार नंबर (ग्राहक के पेंशन भुगतान एजेंसी बैंक या पोस्ट ऑफिस के पास रजिस्टर्ड होना चाहिए), मोबाइल नंबर, पेंशन पेमेंट आर्डर नंबर, खाता नंबर (जिसमें पेंशन का भुगतान होता है) दस्तावेज आवश्यक होंगे। यह योजना उत्तराखण्ड के पहाडी क्षेत्रो के पेंशनधारकों के लिए वरदान साबित होगी, क्योंकि पहाड़ के पेंशनधारकों को जीवन प्रमाण-पत्र के लिए कई किलोमीटर पैदल चलकर बैंक या सर्विस सेंटर आना पड़ता है।