Home खास ख़बर पुलिस की बर्बरता के कारण दंपति ने खाया जहर, राहुल गांधी ने...

पुलिस की बर्बरता के कारण दंपति ने खाया जहर, राहुल गांधी ने ट्वीट किया वीडियो।

1218
SHARE

कोरोना संकट व लॉकडाउन में देश के कई हिस्सों में पुलिस का एक अलग चेहरा सामने आया था, जहां पुलिस लोगों को लॉकडाउन के नियमों का पाठ पढ़ाते हुए जरूरत मंदो की मदद करती हुई भी नजर आ रही थी। लेकिन इस बीच मध्य प्रदेश पुलिस का एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है, जिसकी चारों तरफ आलोचना हो रही है। मध्य प्रदेश के गुना में एक दलित किसान दंपति की पुलिस ने बेरहमी से पिटाई की ताकि उन्हें सरकारी जमीन के एक टुकड़े से हटाया जा सके जहां पर उनकी फसल खड़ी थी। इसके बाद दंपति ने कीटनाशक खाकर अपना जीवन समाप्त करने की कोशिश की है। पति और पत्नी फिलहाल अस्पताल में हैं, जहां पर पत्नी की हालत गंभीर बताई जा रही है।

मंगलवार को हुई इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद ये मामला सामने आया है, वीडियो में देखा गया है कि इस दंपति के साथ बच्चे भी घटना के दौरान रोते और चिल्लाते रहे लेकिन प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों को जरा भी तरस नहीं आया। बच्चों की चीख पुकार के बावजूद पुलिस का दंपति पर जुल्म जारी रहा।

वीडियो वायरल होने के बाद बुधवार देर रात मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को पद से हटा दिया है। जिलाधिकारी एस विश्वनाथन और एसपी तरुण नायक को पद से हटाने के बाद मुख्यमंत्री ने जांच की घोषणा कर दी है। यह मामला शहर के कैंट थाना क्षेत्र का है, शहर के सब डिविजनल मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में एक टीम अतिक्रमण हटाने के लिए यहां पहुंची थी जिस जमीन को लेकर विवाद हुआ था उस पर इस दंपति ने फसल लगाई थी, पुलिस दस्ते ने जेसीबी मशीन के जरिए इसे हटाना शुरु कर दिया।

इस घटना के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा है, उन्होंने ट्वीट में कहा है ये शिवराज सरकार प्रदेश को कहां ले जा रही है ? ये कैसा जंगलराज है ? गुना में कैंट थाना क्षेत्र में एक दलित किसान दंपति पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों द्वार इस तरह बर्बरता पूर्ण लाठीचार्ज।

वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने घटना का वीडियो ट्वीट कर लिखा है हमारी लड़ाई इसी सोच और अन्याय के खिलाफ है।

यह वीडियो ट्विटर सहित अन्य सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है, लोग मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के इस्तीफे तक की मांग कर रहे हैं।