Home उत्तराखंड पिथौरागढ़ में बारिश से भारी तबाही, एसडीआरएफ का रेस्क्यू जारी।

पिथौरागढ़ में बारिश से भारी तबाही, एसडीआरएफ का रेस्क्यू जारी।

264
SHARE

उत्तराखण्ड़ में भारी बारिश का दौर जारी है। मौसम विभाग द्वारा आज भी प्रदेश के अधिकांश जनपदों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। खासकर पिथौरागढ़, बागेश्वर, नैनीताल, चम्पावत, ऊधमसिंहनगर जनपदों में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार पिथौरागढ़ के मुनस्यारी, धारचूला व बंगापानी तथा बागेश्वर जनपद के कपकोट क्षेत्र में भारी से भारी बारिश देखने को मिल सकती है।

वहीं पिथौरागढ़ में एक सप्ताह से जारी बारिश ने मंगलवार को भी भारी तबाही मचाई, बंगापानी के पास जाराजिबली और मेताली गांव में मूसलाधार बारिश के साथ आए मलबे में दबकर एक महिला की मौत हो गई जबकि दूसरी महिला लापता है। पिथौरागढ़ में लगभग एक सफ्ताह से एसडीआरएफ द्वारा लगातार रेस्कयू कार्य जारी है, भारी वर्षा से अनेक गावों में भूस्खलन की घटनाओं में एसडीआरएफ टीम रेस्कयू कार्य मे लगी हुई है, पूर्व में शेराघाट गेला, टाँगा, धामी गाँव के पश्चात टीम द्वारा मोरी और जाराजिबली में मलवे के घरों में भर जाने पर टीम द्वारा रेस्कयू कार्य किया जा रहा है।

कल एसडीआरएफ की टीम 18 किमी पैदल चल कर आपदा प्रभावित गाँव में पहुंची और सर्चिंग अभियान चलाया। वर्तमान में पिथौरागढ़ में 4 स्थानों में सर्चिंग एवं राहत बचाव कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है, जहां एसडीआरएफ की 04 टीमें रेस्कयू कार्य कर रही हैं, साथ ही डॉग सकॉर्ड की मदद भी ली जा रही है।

मोरी गांव में कुछ घरों में मलवा भर जाने एवं लोकल पुलिया के टूट जाने पर एसडीआरएफ टीम ने अतिव्रिष्टि एवं भूस्खलन की सम्भावनाओं को देखते हुए, चार स्थानों में लकड़ी के पुल का निर्माण कर 75 ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों स्कूल इत्यादि में पहुंचाया, साथ ही 6 मवेशियों को भी पुलिया से ही पर करा कर सकुशल ले आये।