Home उत्तराखंड नई शिक्षा नीति को आने वाले समय की चुनौतियों के अनुरूप बनाया...

नई शिक्षा नीति को आने वाले समय की चुनौतियों के अनुरूप बनाया गया- मुख्यमंत्री

268
SHARE
file photo

शिक्षा नीति को लेकर देश में 34 साल बाद एक बड़ा बदलाव हुआ है, अब देशभर में 10वीं यानी हाईस्कूल के बोर्ड एग्जाम नहीं होंगे। साथ ही एमफिल भी अब बन्द किया जाएगा। बल्कि एमए के छात्र अब सीधे पीएचडी कर सकेंगे। बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला लिया गया।

यह भी पढ़ें- शिक्षा नीति में बदलाव, अब 10 वीं में नहीं होगी बोर्ड परीक्षा।

वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने देश में 34 साल बाद नई शिक्षा नीति लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक को बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि नई शिक्षा नीति भारत का भविष्य संवारने में मददगार साबित होगी। इसमें शिक्षा पर जीडीपी के 6 प्रतिशत खर्च करने व कक्षा 5 तक मातृभाशा में शिक्षा देने की बात कही गई है।