Home खास ख़बर नेशनल हैंडलूम एक्सपो-2019, खरीदारी के साथ उत्तराखण्ड की संस्कृति से भी रुबरू...

नेशनल हैंडलूम एक्सपो-2019, खरीदारी के साथ उत्तराखण्ड की संस्कृति से भी रुबरू होने का मौका।

276
SHARE

देहरादून के परेड ग्राउंड में नेशनल हैंडलूम एक्सपो-2019 का आयोजन किया गया है। जहां ग्राहकों के लिए उत्तराखण्ड के पारंपरिक उत्पाद सहित अन्य राज्यों के उत्पाद भी उपलब्ध हैं।ग्राहकों में भी इन उत्पादों को खरीदने के लिए खासा उत्साह देखा जा रहा है, और एक्सपो में लोगों की भारी भीड़ दिखाई दे रही है।यहां ग्राहकों को लद्दाख के उत्पाद बहुत पसंद आ रहे है। एक्सपो के पांचवे दिन सुबह से लद्दाख के स्टाल में खरीददारों की भारी भीड़ लगी रही।अन्य वर्षों की तरह इस वर्ष भी लद्दाख से आये व्यापारियों ने यहां अपना वूलन हैंडलूम का स्टाल लगाया है।इस स्टॉल में प्रसिद्ध शॉल उपलब्ध हैं जो अनेक प्रकार के वूल से बने हुए हैं और बहुत ही खूबसूरती के साथ इस शॉल को सजाया गया है, जो एक ही नजर में खरीदारों को आकर्षित कर रही है।शॉल 1250 की कीमत पर उपलब्ध है. यह याक के बालों से बनाया गया है और उनके बाल साल में एक बार कंघी द्वारा निकाले जाते हैं जिससे यह शॉल बनाये जाते हैं।इसके अलावा शीप वूल यानिकि भेड़ के बालों से बने हुए शॉल भी यहाँ उपलब्ध है जिसकी कीमत 1850 है। सबसे कीमती शॉल्स पश्मीना है जो बकरी के बालों से बनाया जाता है, यह बकरियाँ जिससे यह पश्मीना शॉल्स बनाया गया है वह बस लद्दाख में ही पाए जाते है। इस पश्मीना शॉल्स की कीमत 7,500 से लेकर 25000 तक कि है इसके अलावा विभिन्न प्रकार के पश्मीना मफलर, स्टॉल, मिल रहे हैं।मेले में आज से रोज शाम 5 बजे संस्कृति विभाग द्वारा उत्तराखंड संस्कृति से जुड़े लोग अपनी प्रस्तुतियां देंगे।