Home उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत बेरोजगार को प्राथमिकता दी जाए- मुख्यमंत्री।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत बेरोजगार को प्राथमिकता दी जाए- मुख्यमंत्री।

512
SHARE

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आज वीडियों कांफ्रेंसिग द्वारा जिलाधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना और सोलर व पिरूल परियोजनाओं की समीक्षा की। उन्होनें कहा कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत वास्तव में जरूरतमंदों और बेरोजगार को प्राथमिकता दी जाए। सभी विभागों में चल रही स्वरोजगार योजनाओं को मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के साथ जोङा जाए। सोलर व पिरूल प्रोजेक्ट की आवश्यक प्रक्रियाएं समय से पूरी हों।
मुख्यमंत्री ने कहा कि होप पोर्टल पर स्वरोजगार की सभी योजनाओं की सूचना अपलोड़ की जाए। एक प्लेटफार्म पर आने से लोगों को इन योजनाओं की जानकारी मिल पाएगी और इसका लाभ उठा सकेंगे। उन्होने कहा कि जन प्रतिनिधियों का भी सहयोग लिया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार की कोशिश है, हर बेरोजगार साथी अपना रोजगार प्रारम्भ कर सके। लोगों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने के लिए प्रत्येक जिले में एक महिला और एक पुरूष स्वरोजगार प्रेरक तैनात किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान अपने उत्पादों की बिक्री के लिए निश्चित होना चाहिए। उनके उत्पादों की बिक्री की व्यवस्था पर काम किया जाए। हाॅर्टीकल्चर, पाॅल्ट्री, मत्स्य, बकरी और भेड़पालन लाभदायक हो सकते हैं, इन क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दिया जाए।मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि जिलाधिकारी हर जिले में कुछ माॅडल प्रोजेक्ट स्थापित करें। बैंकों से समन्वय स्थापित किया जाए और ऋण प्रक्रिया में आने वाली समस्याओं का निस्तारण तुरंत किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सोलर व पिरूल प्रोजेक्ट को प्राथमिकता से लिया जाए। किसी भी उपजिलाधिकारी के पास इनसे संबंधित फाईल एक सप्ताह से ज्यादा लम्बित नहीं रहनी चाहिए, जिलाधिकारी लगातार इसकी समीक्षा करें।