Home उत्तराखंड लॉकडाउन के दौरान स्मैक तस्करों ने तस्करी करने का निकाला नया तरीका।

लॉकडाउन के दौरान स्मैक तस्करों ने तस्करी करने का निकाला नया तरीका।

374
SHARE
देश में कोरोना महामारी से बचाव के लिए लॉकडाउन चल रहा है लेकिन नशे के सौदागर इस लॉ़कडाउन के दौरान भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।
ऊधमसिंहनगर जिले के रुद्रपुर कोतवाली पुलिस ने एंबुलेंस से स्मैक तस्करी कर रहे चार युवकों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों के पास से 25 ग्राम से अधिक स्मैक बरामद हुई है पुलिस ने एंबुलेंस को सीज करते हुए आरोपी युवकों के खिलाफ एनडीपीएस में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
स्मैक तस्करी करने वालों तस्करों द्वारा लॉकडाउन में तस्करी का नया तरीका निकाला है। दरसल कल देर साय कोतवाली पुलिस बगवाड़ा मंडी के पास लॉक डाउन के चलते आने जाने वाले लोगो की चेकिंग कर रही थी। इस दौरान किच्छा से रुद्रपुर को एक एंबुलेंस आती हुई दिखाई दी। जैसे ही एंबुलेंस के चालक ने पुलिस को देखा तो बीच में ही एंबुलेंस रोक दी। पुलिस को शक होने पर पुलिस ने जब पूछताछ की तो चारों लोग घबरा गए। जिसके बाद चारों युवकों की तलाशी ली तो चारों के पास 25 ग्राम से अधिक स्मेक बरामद हुई। पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया साथ ही एंबुलेंस को सीज कर दिया। आरोपियों के खिलाफ रुद्रपुर कोतवाली में एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस के मुताबिक आरोपी मुकेश कुमार, इमरान अली उर्फ़ सोनू, शुभम कुमार उर्फ लक्की तीनो भवाली के रहने वाले है और शिव कुमार उर्फ बबलू हल्द्वानी का रहने वाला है। चारो आरोपी स्मेक बहेड़ी से खरीद कर रुद्रपुर ला रहे थे। ताज्जुब की बात ये है कि पुलिस से बचने के लिए तस्करों में एक मरीज, एक डॉक्टर व दो चालक- परिचालक बने थे।
वहीं रुद्रपुर कोतवाली के एसएसआई भुवन चंद्र जोशी ने बताया कि लॉक डाउन के दौरान पुलिस द्वारा चैकिंग की जा रही थी। तभी एक एम्बुलेंस आती दिखाई दी। शक होने पर जब तलाशी ली तो आरोपियों से स्मैक बरामद हुई। बरामद स्मैक की कीमत ढाई लाख से अधिक बताई जा रही है।