Home उत्तराखंड देहरादून पुलिस ने किया ऐसा काम कि हर तरफ हो रही तारीफ।

देहरादून पुलिस ने किया ऐसा काम कि हर तरफ हो रही तारीफ।

300
SHARE

कोरोना से जंग को देश में 3 मई तक लॉकडाउन घोषित किया गया है। लॉकडाउन के बीच लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है, लेकिन लोगों की इस परेशानी दूर करने का काम पुलिस बखूबी कर रही है। लॉकडाउन के समय में पुलिस का एक मानवीय पहलू देखने को मिला है।

पुलिस लोगों को लॉकडाउन के नियमों का पालन तो करा ही रही है, साथ में उनकी छोटी-बड़ी समस्याओं का निदान भी कर रही है। उत्तराखंड पुलिस ने भी लॉकडाउन के इस दौर में अनेकों ऐसी मिसालें पेश की हैं, जिन्हें देखकर लोग पुलिस की सराहना करते नहीं थक रहे हैं। बीते दिनों अल्मोड़ा पुलिस द्वारा सोशल मीडिया पर बुजुर्ग महिला की अपील सुनकर दूरस्थ क्षेत्र में उनके घर तक दवाई पहुंचाई थी तो, वहीं ऐसा ही कुछ अब दून पुलिस ने कर दिखाया है। जी हां देहरादून पुलिस ने लॉक डाउन के चलते कोरियर सर्विस बंद होने के बाद भी लॉक डाउन के भंवर में फंसी जीवन रक्षक दवा को उत्तर प्रदेश से उत्तराखंड पहुंचा दिया जोकि लॉक डाउन की वजह से असंभव सा था।

देहरादून के माजरी निवासी संजीव की जीवन रक्षा दवा जो लखनऊ से हर माह ऑनलाइन बुक किये जाने के बाद देहरादून कोरियर कम्पनी के माध्यम से पहुंचती थी, लेकिन लॉक डाउन होने की वजह से कोरियर सेवा बन्द हो गयी और दवा लखनऊ के हुसैन गंज लॉक डाउन के चलते लॉक हो गई। दवा मंगाने वाले व्यक्ति के द्वारा दवा मंगाने के लिए हर एक प्रयास किया गया करता,अपने पार्सल तक को व्यक्ति के द्वारा ट्रेस किया गया, लेकिन सफलता हाथ न लगी। दवा न मिलने से थके हारे देहरादून के व्यक्ति के द्वारा उम्मीद के किरण के रूप देहरादून पुलिस हेल्पलाइन 112 नंबर पर शिकायत दर्ज की गई, जिसकी  जानकारी सब इंस्पेक्टर प्रमोद पेटवाल को दी।

सब-इंस्पेक्टर प्रमोद पेटवाल ने राह की आसान-
इस बीच दवाई मंगाने वाले व्यक्ति ने देहरादून पुलिस के सब इंस्पेक्टर प्रमोद पेटवाल से संपर्क किया और कहा कि 112 पर भी उन्होंने अपनी शिकायत के रूप में पीड़ा व्यक्त की है। सब इंस्पेक्टर  प्रमोद पेटवाल ने दवा न मिलने से परेशान व्यक्ति की पीड़ा को समझते हुए, इसकी जिम्मेदारी अपने कंधों पर ली कि वह लॉक डाउन में भी दवा को मंगवाएँगे, प्रमोद पेटवाल ने सबसे पहले कोरियर मालिक से बात की उनसे परेशान व्यक्ति की पीड़ा को जाहिर किया, प्रमोद पेटवाल लगातार कोरियर मालिक के संपर्क में थे और उनसे ऐसा रास्ता तलाशने की बात कर रहे थे, जिससे दवाई देहरादून पहुंच जाएं। फिर कोरियर कंपनी मालिक के द्वारा हुसैन गंज में अपने एक कर्मचारी का नम्बर दिया गया, जिसके द्वारा दवाई थाना हुसैन गंज में यूपी पुलिस के निरीक्षक अंजनी कुमार पांडेय को सौंप दी गयी, वहीं देहरादून से प्रमोद पेटवाल ने यूपी पुलिस के निरीक्षक अंजनी कुमार पांडेय से पहले से सम्पर्क कर दवाई को स्पीड पोस्ट के माध्यम से देहरादून पहुंचाने के लिए बात कर दी थी दवा मिलते ही यूपी पुलिस के निरीक्षक अंजनी कुमार पांडेय ने स्पीड पोस्ट के माध्यम से दवा को देहरादून भिजवा दिया जिसे प्रमोद पेटवाल के द्वारा प्राप्त कर लिया गया। दवा प्राप्त करने के बाद सब इंस्पेक्टर प्रमोद पेटवाल अपने सहयोगी डीआईजी पीआरओ शाखा के हेड कांस्टेबल धर्मेंद्र बिष्ट के साथ दवा मंगाने वाले व्यक्ति के घर पहुंचकर दवाई सौंपी गयी। दवा मिलने के बाद दवा मंगाने वाले व्यक्ति ने देहरादून पुलिस का आभार व्यक्त किया।