Home उत्तराखंड क्या मंथन कार्यक्रम में विपक्ष के विधायकों को भी बुलाएगी सरकार?

क्या मंथन कार्यक्रम में विपक्ष के विधायकों को भी बुलाएगी सरकार?

700
SHARE
13 फरवरी 2020 को देहरादून स्थित मुख्यमंत्री आवास में मंथन कार्यक्रम आयोजित होने जा रहा है। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत सरकार के मंत्रियों और विधायकों के साथ राज्य के विकास कार्यों की समीक्षा करेंगे। अपने तीन वर्ष के कार्यकाल पर भी त्रिवेन्द्र सरकार मंथन करेगी।
सरकार के इस मंथन कार्यक्रम पर नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृयदेश ने कहा कि तीन साल में मुख्यमंत्री ने न तो विपक्ष के विधायकों से विकास योजनाओं पर चर्चा की और न ही सुझाव मांगे। और तो और कांग्रेस के विधायकों ने अपनी ओर से अपने क्षेत्र के विकास के लिये जो सुझाव दिये उन्हें तक रद्दी की टोकरी में डाल दिया गया। अब तीन साल बाद जो मंथन कार्यक्रम आयोजित हो रहा है, वो सिर्फ भाजपा विधायकों की नाराजगी को छिपाने की कोशिश मात्र है। उन्होंने कहा कि हमें इस कार्यक्रम की सूचना नहीं दी गई है।
वहीं धारचूला से कांग्रेस विधायक हरीश धामी का कहना है कि त्रिवेन्द्र सिंह रावत पूरे प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं, या सिर्फ उन 57 विधानसभा क्षेत्रों के जहां भाजपा के विधायक हैं ? उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री लगातार विपक्षी विधायकों के विधानसभा क्षेत्रों की अनदेखी कर रहे हैं। विकास योजनाओं के लिये सुझाव तक कांग्रेस के विधायकों से नहीं मांगे जा रहे हैं। और तो और मैंने अपने विधानसभा क्षेत्र के लिये जो विकास योजनायें पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में स्वीकृत करवाई थीं उन पर भी रोक लगा दी गई है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र मंथन कार्यक्रम में बुलाना तो दूर यदि पूर्व में स्वीकृत विकास योजनाओं पर रोक न लगायें तो यही उनकी विपक्ष पर मेहरबानी होगी। अब देखना होगा कि सरकार इस मंथन कार्यक्रम में विपक्ष के विधायकों को बुलाती है या नहीं।