Home उत्तराखंड जानिए उत्तराखण्ड में अब कौंन सी सडकें यातायात के लिए बंद हैं,...

जानिए उत्तराखण्ड में अब कौंन सी सडकें यातायात के लिए बंद हैं, कौंन सी खुल चुकी हैं।

307
SHARE
फाइल फोटो

उत्तराखण्ड में भारी बारिश व भूस्खलन के कारण यातायात के लिए कई सड़कें बाधित हैं। वहीं कई मार्ग खोले भी जा चुके हैं, यमुनोत्री हाईवे पर आवाजाही हो रही है, लेकिन कई जगह मार्ग दलदल में बदल गया है। जिससे वाहनों को आवाजाही में परेशानी हो रही है। गंगोत्री हाईवे पर यातायात सामान्य रूप से चल रहा है।

27 अगस्त को चारधाम मार्गों की स्थिति- ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग-58 तोता घाटी एवं गौचर, क्षेत्रपाल, नंदप्रयाग के पास हिलेरी पार्क, लामबगड़ तथा पागलनाला में मलबा आने के कारण जो अवरूद्ध था वह खुल चुका है।

ऋषिकेश-केदारनाथ 107 राष्ट्रीय राजमार्ग बांसबाड़ा के पास मलबा आने के काऱण जो अवरूद्ध था अह खुल चुका है।

उत्तरकाशी जनपद से प्राप्त सूचना के अनुसार गंगोत्री मार्ग जो बंदरकोट में अवरूद्ध था खुल चुका है, अब उत्तरकाशी में गंगोत्री व यमुनोत्री मार्ग कहीं भी अवरूद्ध नहीं है।

ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय-राजमार्ग 94 बंदरकोट एवं जनपद टिहरी के अंतर्गत चाचा भतीजा होटल नरेन्द्र नगर के पास मलबा आने से जो मार्ग अवरूद्ध था वह खुल चुका है। शेष चारधाम यात्रा मार्ग यातायात हेतु खुले हुए हैं।

कर्णप्रयाग-थराली राष्ट्रीय राजमार्ग कुलसारी-नारायणबगड के बीच हर्मनी एवं थराली-कुलसारी के बीच मलियापौड़ स्थान पर बंद है। पिथौरागढ़ में तवाघाट-सोबला मार्ग खेत में, अस्कोट-जौलजीबी मार्ग लखनपुर में, जौलजीबी-मदकोट मार्ग जौलजीबी-बलुवाकोट मार्ग पिलखोला में, थल-मुनस्यारी मार्ग हरडिया में अवरूद्ध है।

नैनीताल जिले में बेतालघाट के रामनगर मोटर मार्ग स्थित तल्लीसेठी-बव्वास के पास बृहस्पतिवार की सुबह 9.30 बजे सड़क से मलबा हटा रही जेसीबी के सहायक के ऊपर पत्थर गिरने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। साथ ही जेसीबी ऑपरेटर भी पत्थर लगने से घायल हो गया। घायल को उपचार के लिए बेतालघाट के सीएचसी भेजा गया है।