Home अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू होने के कारण मुझे निशाना बनाया गया-दानिष कनेरिया पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर।

हिन्दू होने के कारण मुझे निशाना बनाया गया-दानिष कनेरिया पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर।

275
SHARE
पाकिस्तान टीम के पूर्व स्पिन गेंदबाज दानिष कनेरिया इन दिनों सुर्खियों में हैं, सुर्खियों में रहने की वजह उनका क्रिकेट के मैदान पर किया हुआ प्रदर्शन नहीं बल्कि उनका हिंदू धर्म से होना है।
पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने टीम के पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया को लेकर सनसनीखेज खुलासा किया था, जिसके बाद कनेरिया ने भी अपना पक्ष रखा।अख्तर ने एक टीवी शो ‘गेम ऑन है’ में कहा था कि दानिश हिंदू था, इसलिए उसके साथ नाइंसाफी हुई।
अख्तर ने कहा था, कुछ खिलाड़ियों को इस बात से नाराजगी थी कि वह (दानिश) हमारे साथ खाना क्यों खाता है? अख्तर के इस बयान के बाद कनेरिया ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था, ‘अख्तर ने सच कहा। मैं उन खिलाड़ियों का नाम बताऊंगा जो मुझसे बात करना पसंद नहीं करते थे क्योंकि मैं एक हिंदू था। उस पर बोलने की हिम्मत नहीं थी, लेकिन अब मैं खुलासा करूंगा।
इस खुलासे के बाद टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज व भारतीय जनता पार्टी के मौजूदा सांसद गौतम गंभीर ने पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर दानिश कनेरिया के पक्ष में बयान देते हुए कहा है कि, यही पाकिस्तान का असली चेहरा है। हमारे पास मोहम्मद अजहरुद्दीन जैसे क्रिकेटर रहे हैं, जिन्होंने भारतीय टीम की कप्तानी की है।ये पाकिस्तान का सच दिखाता है, उनके पास खिलाड़ी के तौर पर इमरान खान देश के प्रधानमंत्री हैं, लेकिन फिर भी उनके देश में खिलाड़ियों को इस तरह की परिस्थिति से गुजरना पड़ता है। कनेरिया ने पाकिस्तान के लिए 55-60 मैच खेले हैं, और ये घटना शर्मनाक है।
वहीं पूरे मामले पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड़ ने शोएब अख्तर के बयान से किनारा करते हुए कहा कि वह इस आरोप के लिए जवाबदेह नहीं है। पीसीबी के प्रवक्ता ने कहा, ‘अख्तर और कनेरिया दोनों संन्यास ले चुके हैं और हमसे अनुबंधित नहीं है, इसलिए वे जो चाहे कर सकते हैं और कह सकते हैं। यह उनके विचार हैं। उन्होंने पाकिस्तान क्रिकेट की पूरी व्यवस्था के खिलाफ नहीं बल्कि कुछ खिलाड़ियों के व्यवहार को लेकर आरोप लगाए हैं।
वहीं दानिश ने शुक्रवार को एक चैनल से कहा कि हिन्दू होने के कारण मुझे निशाना बनाया गया लेकिन कभी धर्म परिवर्तन नहीं किया। उन्होंने कहा मुझे हिन्दू और पाकिस्तानी होने पर गर्व है।मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि पाकिस्तान में हमारे क्रिकेट समुदाय को नकारात्मक तरीके से पेश करने की कोशिश न करें क्योंकि बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्होंने मेरा पक्ष लिया और मेरे धर्म के बावजूद मेरा समर्थन किया।