Home उत्तराखंड हल्द्वानी में वन अनुसंधान केन्द्र ने बनाई रामायण वाटिका, 60-65 प्रकार के...

हल्द्वानी में वन अनुसंधान केन्द्र ने बनाई रामायण वाटिका, 60-65 प्रकार के पौंधे लगाए गए।

465
SHARE

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं। 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अयोध्या पहुंचकर राममंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन करेंगे। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 5 अगस्त के भूमि पूजन में आठ हजार पवित्र स्थलों की मिट्टी और जल का प्रयोग होगा। उत्तराखण्ड से भी चारा धामों की मिट्टी व गंगाजल लेकर श्री राम तीर्थ क्षेत्र न्यास के सदस्य अयोध्या के लिए रवाना हो चुके हैं। राम मंदिर निर्माण को लेकर पूरे देश में उत्साह का माहौल है।

वहीं उत्तराखण्ड के हल्द्वानी में वन अनुसंधान केन्द्र द्वारा रामायण वाटिका बनाई गई है। जिसमें लगभग 60-65 प्रकार के पौंधे रोपे गए हैं। केन्द्र के क्षेत्राधिकारी ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि श्री राम के वनवास के दौरान 6 पड़ाव आए थे। उस समय जो वनस्पतियां मौजूद थीं उन्हें यहां डिस्प्ले किया गया है।

वन अनुसंधान केन्द्र हल्द्वानी के क्षेत्राधिकारी मदन सिंह बिष्ट ने बताया कि कोविड-19 के कारण अभी इस रामायण वाटिका को आम जनता के लिए नहीं खोला गया है। लॉकडाउन खुलते ही पहले वाटिका को स्कूली बच्चों के लिए फिर आम जनता के लिए खोला जाएगा।

उन्होंने कहा कि रामायण में महर्षि वाल्मीकि द्वारा 139 प्रजातियां बताई गई हैं। मुख्य 6 पड़ाव चित्रकूट, दंदगाढ़, पंचवटी,किष्किंधा पर्वत, अशोक वाटिका, द्रोणगिरी आदि में हमने हर प्रजाति के 4 पौंधे लगाए हैं, लगभग 60-65 प्रजातियों के पौंधे लगाए जा चुके हैं।