Home अपना उत्तराखंड सीवर सिस्टम फेल होने से गंगा में बही गंदगी और मैली गंगा...

सीवर सिस्टम फेल होने से गंगा में बही गंदगी और मैली गंगा में ही डुबकी लगाते रहे भक्त

3605
SHARE

हरकी पैड़ी के अपस्ट्रीम में सीवर सिस्टम फेल होने से बृहस्पतिवार को स्थिति भयावह हो गई। सीवर बहने से दोपहर तक गंगा मैली होती रही।

हरकी पैड़ी जाने वाली गंगा की धारा में सीवर बहने से अनजान श्रद्धालु तथा हजारों कांवड़िए डुबकी लगाते रहे और कांवड़ जलभर अपने गंतव्य को लौटते रहे। गनीमत यह रही कि भोले के भक्तों की नजर गंगाघाट पर बहती सीवर पर नहीं पड़ी। बरसात में गंगा का पानी मटमैला होने से भी सीवर की गंदगी का पता नहीं चल पाया।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बुधवार रात से ही भीमगोडा नई बस्ती का सीवरेज पंपिंग स्टेशन ठप होने से रात से ही पूरा सीवर  हरकी पैड़ी जाने वाली गंगा की धारा में बहाया गया। वेद निकेतन धाम का सीवरेज पंपिंग स्टेशन भी पूरा भरने से लोकनाथ नाला से भी सीवर ओवरफ्लो कर गंगा में बहता रहा है।

बृहस्पतिवार दोपहर तक यह स्थिति बनी रही है। अधिकारी भी मानते हैं कि भीमगोडा नई बस्ती के पुराने सीवरेज पंपिंग स्टेशन के जिस गेट (पेनस्टोव) से सीवर कुएं में गिरता है, उसके नीचे गिरने से यह समस्या हुई। वेद निकेतन के पंपिंग स्टेशन पर पानी अधिक आने से कुआं भर गया और लोकनाथ नाला के टेपिंग सिस्टम के भी काम नहीं करने सीवर ओवरफ्लो होकर गंगा घाटों पर बही।

जैसे ही इसका पता चला युद्धस्तर पर सिस्टम को ठीक करने का काम शुरू कराया गया। कर्मचारियों को सीवर से भरे कुएं में उतारकर उसको ठीक कराया गया है। कांवड़ मेले के दौरान फिर ऐसी स्थिति न हो इसके लिए भीमगोडा बैरियर के पास ही सड़क खोद कर सिस्टम के सपोर्ट के लिए एक चेंबर बनाने का काम शुरू करा दिया गया है।
– अजय कुमार, अधिशासी अभियंता, अनुरक्षण शाखा (गंगा) हरिद्वार 

अनुरक्षण शाखा के ईई को सीवरेज सिस्टम ठीक रखने का निर्देश दिया गया है। सभी सीवरेज पंपिंग स्टेशनों विशेषकर हरकी पैड़ी के आसपास वालों की बार-बार तकनीकी जांच करने को कहा गया है, ताकि कहीं कोई कुछ दिक्कत हो तो उसको तत्काल ठीक करा दिया जाए।

– ललित नारायण मिश्रा, अपर जिलाधिकारी एवं नगर आयुक्त