Home उत्तराखंड नैनीताल-थर्टी फर्स्ट पर नाइट कर्फ्यू की संभावनाओं के बीच डीएम ने कही...

नैनीताल-थर्टी फर्स्ट पर नाइट कर्फ्यू की संभावनाओं के बीच डीएम ने कही ये बडी बात, पर्यटकों व होटल व्यवसायियों को राहत..

673
SHARE

नैनीताल जिलाधिकारी सविन बंसल का पर्यटकों व होटल व्यवसायियों को राहत देने वाला बयान सामने आया है, उन्होंने एक बयान में कहा है कि 31 दिसंबर की रात नैनीताल में कर्फ्यू को लेकर कोई गाइडलाइन जारी नहीं की गई है। डीएम के इस बयान के बाद फिलहाल रात्रि कर्फ्यू की संभावनाओं पर विराम लगा है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला मॉनिटरिंग कमेटी ने क्रिसमस व 31 दिसंबर की रात कर्फ्यू लगाने के सुझाव दिए थे, और हाईकोर्ट ने सरकार से इस सुझाव पर अमल करने को कहा था।

जिला प्रशासन द्वारा क्रिसमस की रात्रि भी कर्फ्यू नहीं लगाया गया, जिससे अन्य शहरों से नैनीताल आने वाले पर्यटकों व होटल व्यवसायियों ने राहत की सांस ली। क्रिसमस व शनिवार- रविवार की छुट्टी के चलते बडी संख्या में पर्यटक नैनीताल पहुंच रहे हैं, जिससे सरोवर नगरी एक बार फिर पर्यटकों से गुलजार नजर आ रही है। और पर्यटन से जुडे व्यवसायियों के चेहरे खिल उठे हैं। जिला प्रशासन ने भी कोरोना संक्रमण की रोकथाम के चलते नैनीताल के एंट्री प्वाइंट्स पर पुलिस चेकिंग के साथ कोरोना जांच की भी व्यवस्था की है। यदि कोई बिना कोरोना निगेटिव रिपोर्ट लिए नैनीताल जाना चाहता है तो उसे कोरोना टेस्ट से गुजरना होगा। लेकिन फिलहाल नाइट कर्फ्यू की संभावनाओं से जिला प्रशासन ने इंकार किया है।

बता दें कि क्वारंटाइन सेंटरों की बदहाल व्यवस्थाओं पर जनहित याचिकाओं की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने सरकार से पूछा था कि नैनीताल, मसूरी व दून में क्रिसमस व 31 दिसंबर को होने वाली पार्टियों को रोकने के लिए क्या इंतजाम किए गए हैं। सरकार की ओऱ से कहा गया कि दून व मसूरी में होटलों, सार्वजनिक स्थानों पर पार्टियां करने पर पाबंदी लगा दी गई है। जबकि नैनीताल पर जिलाधिकारी निर्णल लेंगे। जिलाधिकारी ने कहा है कि 31 दिसंबर को लेकर शासन ने कोई गाइडलाइन जारी नहीं की है, ऐसे में थर्टी फर्स्ट पर कर्फ्यू की कोई संभावना नहीं है। शासन से 31दिसंबर से पूर्व जो भी आदेश मिलेंगे उनका पालन कराया जाएगा। जिला प्रशासन की ओर से कोविड नियमों का पूर्णतः पालन कराया जा रहा है।