Home अपना उत्तराखंड अल्मोड़ा रानीखेत- अब सभी आयुर्वेदिक दवाइयों की जांच ड्रग फैक्ट्री में हो पाएगी,...

रानीखेत- अब सभी आयुर्वेदिक दवाइयों की जांच ड्रग फैक्ट्री में हो पाएगी, सहकारिता मंत्री ने किया लैब का उद्घाटन।

224
SHARE

कुमाऊं में सहकारिता क्षेत्र की सबसे पुरानी को-ऑपरेटिव ड्रग फैक्ट्री में आज प्रदेश के सहकारिता मंत्री डा. धन सिंह रावत ने नवनिर्मित एनएबीएल (नेशनल एक्रेडिटेशन बोर्ड फॉर टेस्टिंग एंड कैलिब्रेशन लेबोरेटरीज) माइक्रोबायोलाॅजिकल लैब का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि इस लैब के खुल जाने से सभी आयुर्वेदिक दवाओं की जाॅच यहीं पर ही की जायेगी जिससे बाहर भेजे जाने वाले सैम्पल पर होने वाले खर्च से भी निजात मिल पायेगा। उन्होंने कहा कि फैक्ट्री में निर्मित माल और बाहर से आने वाले कच्चे माल की भी जाॅच इस लैब में की जायेगी।

 

इस दौरान उन्होंने फैक्ट्री में उत्पादित किये जा रहे निर्मित माल का भी निरीक्षण किया और कहा कि यहां पर जो भी आयुर्वेदिक उत्पाद बनाये जाते हैं उनकी अन्य जगह पर काफी मांग है, उन्होंने कहा कि यह कारखाना हिमालयी क्षेत्र में पाई जाने वाली आयुर्वेदिक दवाओं की तैयारी के साथ-साथ लोगों को रोजगार देने के साथ पहाड़ी क्षेत्र की किफायती प्रगति में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा इस फैक्ट्री का जीर्णोद्वार भी किया गया है।

उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि उच्च शिक्षा में सरकार द्वारा सभी महाविद्यालयों में शत प्रतिशत प्राचार्य पद, फर्नीचर, किताबें, कम्प्यूटर, लैब, छात्रावास, भवन बनाने का कार्य किया जा रहा है, साथ ही सभी महाविद्यालयों में 4 जी इनटरनेट से जोड़ने का भी कार्य प्रगति पर है। उन्होंने कहा कि छात्रों को जो-जो सुविधायें मिलनी चाहिये व सरकार द्वारा दी जा रही हैं, कहीं पर भी धन की कमी आडे़ नहीं आने दी जायेगी।