Home खास ख़बर छेड़ोगे तो छोड़े भी नहीं जाओगे।

छेड़ोगे तो छोड़े भी नहीं जाओगे।

243
SHARE
नागरिकता संशोधन कानून व एनआरसी के मुद्दे पर देशभर में बवाल मचा हुआ है, उग्र प्रदर्शकारी आगजनी की घटना कर सरकारी संपत्ति को भी नुकसान पहुंचा रहे हैं।वहीं उत्तराखंड में भी कई जगह इसका शांतिपूर्वक विरोध देखा जा रहा है, इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि वह प्रदेश की जनता के आभारी हैं, क्योंकि प्रदेश में जनता को अगर विरोध भी जताना होता है तो वह शालीन और लोकतंत्र के दायरे में रहकर विरोध जताती है, लेकिन अगर लोगों को भड़काने के लिए अराजक तत्व कोशिश करेंगे तो पुलिस अधिकारियों को उनसे सब तरीके से निपटने के निर्देश दिए गए हैं, मुख्यमंत्री का कहना है कि उन्होंने पुलिस के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि उत्तराखंड की अन्य राज्यों की सीमाओं पर पुलिस प्रशासन के अतिरिक्त टीमें भी तैनात की जाए।
वहीं यू.आई.एच.एम.टी. ग्रुप ऑफ कालेज के चैयरमैन ललित मोहन जोशी हिंसा व आगजनी की घटनाओं की निंदा करते हुए युवाओं से किसी के भड़कावे में न आकर इस वक्त सरकार के साथ खड़े होने की सलाह दे चुके हैं, उन्होंने साफ तौर पर कहा है कि सड़कों पर आग लगाती पत्थर चलाती भीड़ नागरिकता संशोधन कानून के विरोध की आड़ में भारत को पाकिस्तान बनाने का स्वप्न देखने वाले लडा़के हैं, ये याकूब मेनन जैसे आतंकियों की फाँसी का विरोध करने वाले और जिन्ना को आदर्श मानने वाले लोग हैं।