Home उत्तराखंड भाजपा विधायकों ने की सख्त लॉकडाउन की पैरवी तो सीएम ने कहा...

भाजपा विधायकों ने की सख्त लॉकडाउन की पैरवी तो सीएम ने कहा लॉकडाउन समाधान नहीं

561
SHARE

उत्तराखण्ड में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामलों में तेजी देखी गई है। बढते कोरोना संक्रमण ने सरकार की चिंता भी बढ़ा दी है। प्रदेश में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए बीजेपी के दो विधायकों ने सख्त लॉकडाउन की पैरनी की है। दोनों का कहना है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए फिर से लॉकडाउन पर विचार किया जाना चाहिए। हालांकि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने लॉकडाउन की संभावना से इंकार किया है।

file photo

प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकडा तेजी से बढ़ रहा है, पिछले तीन दिन की बात की जाए तो 3000 से अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। शुक्रवार तक प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 9294 तक पहुंच गई है। प्रदेश में अब तक 388 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत भी हो चुकी है। बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या पर चिंता जाहिर करते हुए भाजपा विधायक खजान दास व महेन्द्र भट्ट ने लॉकडाउन की पैरवी की है, हालांकि उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए इस पर राय जाहिर की है। भाजपा विधायकों का कहना है कि राज्य में संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है, तो अन्य विकल्पों पर विचार करना चाहिए लोग सोशल डिस्टेंसिग का पालन नहीं कर रहे हैं। तो ऐसे में सख्त लॉकडाउन की सिफारिश की जानी चाहिए।

उत्तराखंड आने वालों को राज्य सरकार ने दी एक और राहत, जारी की नई गाइडलाइन… .

वहीं विधायकों की इस बात पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा है कि कोरोना पर अंकुश लगाने के लिए सिर्फ लॉकडाउन समाधान नहीं है। इसे सावधानी और अतिरिक्त सतर्कता बरतने से ही रोका जा सकता है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन आईसीएमआर और स्वास्थ्य विभाग के गाइडलाइन से ही यह तय होता है, विशेषज्ञ जो राय देंगे, उसके बाद ही आईसीएमआर गाइड लाइन तय करती है।

विभिन्न बैंकों में क्लर्क बनने का मौका, 23 सितंबर तक करें ऑनलाइन आवेदन।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की तैयारियां पूरी हैं। निजी अस्पतालों को भी उपचार की मंजूरी दी गई है। साथ ही होम आइसोलेशन को भी बढ़ावा दिया गया है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन समाधान नहीं है। इसकी बजाए कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए नियमों का पूरी गंभीरता से पालन किया जाना चाहिए।