Home खास ख़बर राम मंदिर निर्माण- भूमि पूजन से पहले भगवान राम का इस तरह...

राम मंदिर निर्माण- भूमि पूजन से पहले भगवान राम का इस तरह स्वागत करेंगे अयोध्या वासी।

393
SHARE

5 अगस्त को लंबे इंतजार के बाद अयोध्या में राममंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन होगा। जैसे जैसे अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन की तिथि समीप आ रही है अयोध्या को सजाने संवारने के काम में तेजी दिखाई देने लगी है। राम मंदिर भूमि पूजन समारोह को ऐतिहासिक बनाने के लिए अलग-अलग विभागों को जिम्मेदारियां सौंप दी गयी हैं। भूमि पूजन के तय कार्यक्रम के अनुसार शुभ मुहूर्त 11:40 बजे से पहले अयोध्या के लोग अपने घर से बाहर निकलकर घंटे और थाली बजाकर भगवान राम का स्वागत करेंगे और आधार शिला पूजन समारोह के तुरंत बाद अयोध्या में प्रसाद वितरण का काम शुरू होगा, कहा जा रहा है कि महाप्रसाद वितरण के लिए एक लाख ग्यारह हज़ार पैकेट प्रसाद तैयार किया जा रहा है जो लोगों के घरों तक पहुंचाया जायेगा।

इस शुभ कार्य की शुरुआत 4 अगस्त से शुभ दिन मंगलवार को हनुमानगढ़ी से होगी, शास्त्रों और हिन्दू मान्यताओं के अनुसार हनुमान ही अयोध्या नगरी के अधिष्ठाता हैं इसीलिए उनके निशान की पूजा होने के बाद ही राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा। पहले ये शुभ कार्य 2 अगस्त यानी रविवार को होना तय हुआ था परंतु अब ये कार्यक्रम 4 अगस्त को होना तय किया गया है। उस दिन मंगलवार भी है और हनुमान का दिन भी इसीलिए यही दिन शुभ माना जा रहा है। 5 अगस्त को भूमि पूजन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंदिर की शिला रखेंगे, साथ पीएम हनुमानगढ़ी भी जाएंगे।

भूमि पूजन के दिन पीएम मोदी अयोध्या की 84 कोसी परिक्रमा भी करेंगे, 5 अगस्त को अयोध्या में राम राज्य की शुरुआत होगी। पीएम मोदी ना सिर्फ 5 अगस्त को अयोध्या राम मंदिर के भूमि पूजन में शामिल होंगे बल्कि अयोध्या नगरी को कुछ खास तोहफे भी देंगे।

ये कौन कौन से तोहफे होंगे आइये इस पर एक नज़र डालते हैं-

सआदतगंज- नयाघाट तक 4 लेन की सड़क बनाई जाएगी.
– 14 किमी. लंबी सड़क बनेगी. इसी सड़क के किनारे अयोध्या बसी है।
– एनच- 27 से श्रीराम जन्मभूमि तक सड़क का चौड़ीकरण किया जाएगा।
– श्रीराम जन्मभूमि के आसपास की सड़कों की मरम्मत होगी.
– जन्मभूमि परिसर से एयरपोर्ट तक 4 लेन सड़क का निर्माण होगा.
–  पंचकोसी मार्ग का विस्तार और मरम्मत का काम होगा.
– 300 करोड़ की लागत से सीवर कार्य का भी शिलान्यास होगा.
– हनुमानगढ़ी, दशरथ महल, कनक भवन में लाइटिंग होगी.
–  जानकी मंदिर, दिगंबर अखाड़ा, राजद्वार मंदिर में भी लाइटिंग होगी.
–  भरतकुंड का सुंदरीकरण किया जाएगा।