Home खास ख़बर भारत में कोविड-19 की वर्तमान स्थिति पर भारत सरकार के अधिकारियों ने...

भारत में कोविड-19 की वर्तमान स्थिति पर भारत सरकार के अधिकारियों ने दी जानकारी।

382
SHARE

भारत में कोविड 19 की वर्तमान स्थिति और तैयारियों के बारे में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल व सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार बीते 24 घंटे में भारत में कोविड-19 के 4213 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 1559 लोगों को पूरी तरह से ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत में अब तक करीब 21 हजार लोग कोविड-19 से पूरी तरह ठीक हो चुके हैं, हालांकि कोरोना वायरस संक्रमण के दर्ज हुए मामलों की संख्या बढ़कर 67152 हो गई है। इनमें से करीब 44 हजार लोग डॉक्टरों की देखरेख में हैं।
स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि भारत का रिकवरी रेट अब बढ़कर 31.15% हो गया है।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपील की है कि, हमें एक साथ प्रयास करना होगा की अगर किसी में भी कोविड-19 के लक्षण दिखाई दें तो उसे छिपाएं नहीं बल्कि इसके संबंध में तुरंत सूचित करें और समय पर उपचार लें। यदि हम ऐसा नहीं करते तो हम ना केवल बीमार होंगे बल्कि अपने परिवार के स्वास्थ्य को भी खतरे में डाल देंगे।
भारत सरकार के अधिकारियों के मुताबिक क्लीनिकल कंडीशन के आधार पर और नई डिस्चार्ज नीति के अनुसार, बहुत हल्के और मध्यम लक्षण वाले रोगियों को बिना कोविड-19 परीक्षण के छुट्टी दी जा सकेगी, ऐसे मामलों के लिए होम आइसोलेशन के संशोधित दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। जिनके अनुसार घरेलू आइसोलेशन के बाद परीक्षण की आवश्यकता नहीं होगी।

भारतीय मरीजों पर यह महामारी कैसे असर कर रही है, इस बारे में बताते हुए आईसीएमआर के वरिष्ठ डॉक्टर ने कहा, हमारे डेटा के अनुसार प्रारंभिक मामलों में RT-PCR द्वारा जांच किए गए मरीजों के पॉजिटिव नतीजे 10 दिन बाद निगेटिव में बदल गए। अध्ययनों से यह भी पता चला है कि वायरल लोड(लक्षण से दो दिन पहले) बढ़ता है और अगले 7 दिनों में नीचे भी आता है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि हमें कोविड-19 के नियंत्रण संबंधी प्रयासों पर जोर देना चाहिए, ताकि इसे कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्टेज पर जाने से रोका जा सके।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने दोहराया कि कोविड-19 के फैलने का किसी नस्ल, धर्म या क्षेत्र से कोई लेना-देना नहीं है, यह संक्रमण लापरवाही से फैलता है।

सरकार के अधिकारियों ने बताया कि अब तक 1.4 लाख लोगों को आरोग्य सेतु ऐप के जरिए कोरोना वायरस के खतरे के बारे में अलर्ट किया गया है, और इस ऐप के जरिए मिली सूचना के आधार पर 697 नए संभावित हॉटस्पॉट की मार्किंग की गई है।

सरकार के अनुसार अब तक करीब 9.8 करोड़ लोग इस ऐप को डाउनलोड कर चुके हैं, जो अब बारह भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है।

सरकार के अनुसार वंदे भारत मिशन के तहत 10 मई तक 23 उडानें भेजकर विदेश में फंसे करीब 4000 भारतीयों को भारत लाया जा चुका है। करीब 200 भारतीयों को लेकर मालदीव से भारतीय नौसेना का एक जहाज रवाना हो तुका है, जबकि एक अन्य जहाज 698 भारतीयों को लेकर भारत पहुंच चुका है।

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के माध्यम से अब तक करीब 5 लाख यात्रियों को उनके घर पहुंचाया गया है, और अभी तक 468 ट्रेनें चलाई गई हैं।

गृहमंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने प्रैस वार्ता में दोहराया कि केन्द्र सरकार सरकार ने दोहराया कि केन्द्र सरकार ने राज्यों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि प्रवासी मजदूर रेलवे पटरियों को पार न करें साथ ही उनके लिए भोजन आश्रय की व्यवस्था तब तक करें जब तक कि उनके लिए रेलगाड़ियों या बसों की व्यवस्था ना की जा सके।