Home खास ख़बर भारत बचाओ रैली में राहुल ने मोदी, तो प्रियंका ने भाजपा पर...

भारत बचाओ रैली में राहुल ने मोदी, तो प्रियंका ने भाजपा पर कसा तंज।

223
SHARE
दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस आर्थिक मंदी, बेरोजगारी और मोदी सरकार की जनविरोधी व विघटनकारी नीतियों के विरोध में भारत बचाओ रैली कर रही है। रैली को राहुल गांधी व प्रियंका वाड्रा ने भी संबोधित किया।
रेप इन इंडिया पर माफी के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि मेरा नाम राहुल गांधी है, राहुल सावरकर नहीं। मैं सच बोलने के लिए कभी माफी नहीं मांगूगा और न ही कांग्रेस का कोई और व्यक्ति ऐसा करेगा इस देश की शक्ति अर्थव्यवस्था थी।जिसे मोदी ने नष्ट कर दिया। कालेधन का नाम लेकर झूठ बोला, दुनिया के लोग भारत को सोने की चिड़िया बोलते थे। राहुल ने कहा कि अर्थव्यवस्था को नष्ट करने का काम किसी दुश्मन ने नहीं बल्कि प्रधानमंत्री ने किया है। पूरा का पूरा पैसा दो-तीन उद्योगपतियों को थमा दिया है।जीएसटी की वजह से इस देश में 45 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है, नौ प्रतिशत जीडीपी होती थी जो अब चार प्रतिशत है। बड़े-बड़े उद्योगपतियों का हजारों करोड़ रुपये माफ कर दिया। हकीकत में देश की जीडीपी 2.5 प्रतिशत है। मोदी ने आपके फोन का बिल बढ़ाया है, मोदी ने आपकी जेब से पैसा निकाला है। भारत-चीन दुनिया का भविष्य थे लेकिन आज देश हाथ में प्याज को पकड़े हुए है।
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भारत बचाओ रैली को संबोधित करते हुए कहा कि ये देश अनोखे स्वतंत्रता संग्राम से उभरा है। ये देश प्रेम का देश है, अहिंसा का देश है। एक दूसरे का हाथ थामने का ये देश है। उन्होंने आगे कहा कि यह हर इंसान का अधिकार है। न्याय की लड़ाई लड़ने से बड़ी कोई भी देशभक्ति नहीं है। आज जिस स्थिति से हमारा देश गुजर रहा है हर ओर अन्याय है। प्रियंका ने कहा कि देश के एक-एक नागरिक से मैं कहना चाहती हूं कि अगर आपको देश प्यारा है तो देश की आवाज बनो। अगर आज हम चुप रहेंगे तो हमारे देखते-देखते हमारा संविधान नष्ट हो जाएगा और हमारे देश का विभाजन शुरू हो जाएगा।
प्रियंका ने कहा कि कुछ साल पहले हमारे देश की अर्थव्यवस्था चीन की तरह तेजी से बढ़ रही थी। अब जीडीपी पालात में चली गई है। भाजपा है तो 100 रुपये किलो की प्याज मुमकिन है। भाजपा है तो चार करोड़ नौकरियां नष्ट होना मुमकिन है। भाजपा है तो 15 हजार किसानों की हत्या मुमकिन है। भाजपा है तो नवरत्न कंपनियों की बिक्री मुमकिन है। भाजपा है तो ऐसे कानून बन रहे है जिससे देश का संविधान खतरे में है।