Home उत्तराखंड अस्पताल की लापरवाही जिन्हें एक दिन पहले किया डिस्चार्ज उन्हीं की रिपोर्ट...

अस्पताल की लापरवाही जिन्हें एक दिन पहले किया डिस्चार्ज उन्हीं की रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव।

1420
SHARE

उत्तराखंड में शनिवार को 4 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं जिसके बाद प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 67 हो गई है चारों कोरोना मरीज उधमसिंह नगर से मिले हैं। चारों युवक अन्य राज्यों से उत्तराखंड लौटे थे। इनमें से दो युवक मुंबई से गदरपुर लौटे थे। गदरपुर निवासी इन दो युवकों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही भी सामने आई है, दरअसल दोनों युवकों को पुलिस ने चेकिंग के दौरान ट्रेस कर क्वॉरेंटाइन सेंटर भेजा था, जहां से उन्हें जांच के बाद जिला अस्पताल में बने आइसोलेशन वार्ड पहुंचा दिया गया था। लेकिन अस्पताल से इन दोनों को अगले ही दिन डिस्चार्ज कर दिया गया और दोनों अपने घर पहुंच गए, अब इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अधिकारी हरकत में आए और दोनों को दोबारा आइसोलेशन वार्ड में लाया गया।

जानकारी के मुताबिक गदरपुर निवासी दोनों युवक अंधेरी रोड मुंबई में रहकर ऑटो चलाते थे 3 मई को दोनों ऑटो से ही घर के लिए निकले 7 मई को दोनों उत्तराखंड के पुल भट्टा बॉर्डर पर पहुंचे तो पुलिस ने पूछताछ की इस दौरान उनके मुंबई से आने की जानकारी पर पुलिस ने डॉक्टर को बुलाकर उनकी प्राथमिक जांच कराई, और पंतनगर विश्वविद्यालय के क्वॉरेंटाइन सेंटर में भेज दिया वहां से भी जांच के बाद दोनों को जिला अस्पताल में बने आइसोलेशन वार्ड भेज दिया गया था। आइसोलेशन वार्ड से दोनों के सैंपल उसी दिन लेकर जांच को भेज दिए गए थे, लेकिन 8 मई को दोनों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया दोनों युवक अपने घर लौट गए।

शनिवार को दोनों की रिपोर्ट करना पॉजिटिव आने के बाद अधिकारियों में खलबली मच गई अस्पताल में जानकारी ली गई तो पता चला कि दोनों डिस्चार्ज किए जा चुके हैं, इस पर आनन-फानन में एक टीम को गदरपुर भेजा गया वहां से दोबारा दोनों को आइसोलेशन वार्ड लाया गया जहां से उन्हें सुशीला तिवारी अस्पताल भेज दिया गया है। वही मामले की जानकारी मिलने पर डॉक्टर नीरज खैरवाल ने को भी कोविड-19 के जिला नोडल अधिकारी बंशीधर तिवारी से जवाब तलब कर लिया है।