Home अपना उत्तराखंड अल्मोड़ा अल्मोड़ा- रामगंगा नदी में मिला चौखुटिया क्षेत्र के युवक का शव।

अल्मोड़ा- रामगंगा नदी में मिला चौखुटिया क्षेत्र के युवक का शव।

664
SHARE

उत्तराखण्ड़ के शांत पहाड़ी क्षेत्रों में भी आत्महत्या व हत्या जैसी घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। अमूमन शांत रहने वाले पहाड़ भी ऐसी घटनाओं से अशांत हो रहे हैं। साथ ही ऐसी घटनाओं से लोगों में डर भी व्यापत है। ऐसी ही एक घटना आज अल्मोड़ा जिले के चौखुटिया तहसील क्षेत्र के कोट्यूडा गांव से सामने आई है, जहां के एक 25 वर्षीय युवक का शव रामगंगा नदी से बरामद हुआ है।

गांव के युवक का शव नदी में मिलने से ग्रामीणों में हडकंप मचा हुआ है। पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से नदी से शव निकालकर पंचनामे की कार्रवाई के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मिली जानकारी के अनुसार चौखुटिया क्षेत्र की ग्राम पंचायत कोट्यूडा का रहने वाला 25 वर्षीय युवक संजय बिष्ट 20 अगस्त गुरुवार दिन में घर से बाजार के लिए निकला था, लेकिन देर रात तक घर वापस नहीं पहुंचा। इससे घर में अकेली मां पुष्पा देवी बेहद चिंतित हो उठी।

मां ने शुक्रवार सुबह गांव के अन्य लोगों को बताया और गांव के लोगों के साथ सुबह बेटे की तलाश में निकल पड़ी। काफी तलाश करने के बाद सुबह करीब साढ़े सात बजे ग्रामीणों ने चौखुटिया से करीब आधा किमी दूर अखेती के पास रामगंगा नदी के किनारे एक शव अटका देखा, तो इसकी सूचना चौखुटिया थाना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही प्रभारी थानाध्यक्ष मनमोहन सिंह मेहरा फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने ग्रामीणों के सहयोग से शव को नदी से बाहर निकाला। इस शव की पहचान कोट्यूडा निवासी संजय बिष्ट उर्फ संजू के रूप में हुई।

पंचनामा कराने के पश्चात पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। यह स्पष्ट नहीं हो सका कि संजय वहां तक कैसे पहुंचा या नदी में कैसे और कब डूबा। मामले में प्रभारी थानाध्यक्ष मनमोहन मेहरा ने कहा कि प्रथम दृष्टया मौत का कारण नदी में डूब जाना समझा जा रहा है, लेकिन मौत का कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही सामने आ सकेगी। बताया जा रहा है कि संजय दिल्ली में प्राईवेट नौकरी करता था, कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन के बाद से वह घर में ही था।