Home खास ख़बर विराट की कप्तानी में टीम इंडिया वेस्टइंडीज में बना सकती है ये...

विराट की कप्तानी में टीम इंडिया वेस्टइंडीज में बना सकती है ये बड़ा रिकॉर्ड

1764
SHARE

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान हारने के बाद और कोच अनिल कुंबले के इस्तीफे के बाद टीम इंडिया को शुक्रवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ पहला वनडे खेलना है. भारतीय टीम 5 वनडे और 1 टी20 मैच के लिए वेस्टइंडीज पहुंच चुकी है. पहला वनडे क्वींस पार्क ओवल, पोर्ट ऑफ स्पेन में खेला जाएगा.

इस सीरीज में टीम इंडिया के पास इतिहास रचने का मौका है. विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम वो कारनामा कर सकती है जो धोनी, गांगुली जैसे महान खिलाड़ियों की कप्तानी में नहीं हुआ. दरअसल वेस्टइंडीज की धरती पर टीम इंडिया ने कभी क्लीन स्वीप नहीं किया है. वेस्टइंडीज की धरती पर टीम इंडिया ने कुल 8 वनडे सीरीज खेली हैं जिसमें से 4 में उसे जीत भी नसीब हुई है लेकिन भारतीय टीम का कोई कप्तान वेस्टइंडीज का उसी की धरती पर क्लीन स्वीप नहीं कर सका.

हां वेस्टइंडीज ने जरूर 1989 में टीम इंडिया का क्लीन स्वीप कर दिया था. सर विवियन रिचर्ड्स की कप्तानी में वेस्टइंडीज ने भारत को वनडे सीरीज में 5-0 से हराया था. उस वक्त टीम इंडिया के कप्तान दिलीप वेंगसरकर थे.

एक नजर डालते हैं वेस्टइंडीज और भारत के बीच अबतक हुई वनडे सीरीज के नतीजों पर

3 मैचों की वनडे सीरीज (1983)
टीम इंडिया ने साल 1983 में पहली बार वेस्टइंडीज के खिलाफ उसी की धरती पर वनडे सीरीज खेली. ये सीरीज 3 मैचों की थी और इसमें टीम इंडिया को 1-2 से शिकस्त मिली. कपिल देव की कप्तानी में भारतीय टीम ने पहला मैच गंवाने के बाद दूसरे वनडे में जीत हासिल की लेकिन तीसरे और निर्णायक मैच में वेस्टइंडीज ने भारतीय टीम को 7 विकेट के बड़े अंतर से हरा दिया.

5 मैचों की वनडे सीरीज (1989)
6 साल बाद टीम इंडिया एक बार फिर वेस्टइंडीज की धरती पर वनडे सीरीज खेलने पहुंची. इस बार भारतीय टीम की कमान दिलीप वेंगसरकर के हाथ में थी लेकिन इस बार भी टीम इंडिया को करारी मात मिली. वेस्टइंडीज ने टीम इंडिया को वनडे सीरीज में एक भी मैच नहीं जीतने दिया और उसका 5-0 से सूपड़ा साफ कर दिया.

4 मैचों की वनडे सीरीज (1997)
सचिन तेंदुलकर की कप्तानी में टीम इंडिया एक बार फिर 1997 में वेस्टइंडीज पहुंची. इस बार भी नतीजा वही निकला जो पिछले दो दौरों पर था. टीम इंडिया ने 1-3 से सीरीज गंवाई.

3 मैचों की वनडे सीरीज (2002)
साल 2002 में सौरव गांगुली की कप्तानी में टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज में इतिहास रचा. टीम इंडिया ने पहली बार विंडीज को उसी की धरती पर हराया. टीम इंडिया ने 2-1 से जीत हासिल की. हालांकि वो क्लीन स्वीप करने में नाकाम रहे.

5 मैचों की वनडे सीरीज (2006)
4 साल बाद राहुल द्रविड़ की कप्तानी में टीम इंडिया ने विंडीज की धरती पर कदम रखा जहां उसे 1-4 से बड़ी हार मिली. किंग्सटन में पहला मैच जीतने के बाद टीम इंडिया अगले चारों मैच गंवा बैठी.

4 मैचों की वनडे सीरीज (2009)
3 साल बाद एम एस धोनी की अगुवाई में टीम इंडिया ने एक बार फिर वेस्टइंडीज को पटखनी दी. 4 मैचों की वनडे सीरीज में टीम इंडिया ने 2 मैच जीते जबकि एक मुकाबला वेस्टइंडीज ने अपने नाम किया. सीरीज का एक मैच बारिश के चलते रद्द हुआ. हालांकि टीम इंडिया ने सीरीज अपने नाम की.

5 मैचों की वनडे सीरीज (2011)
सुरेश रैना की कप्तानी में टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को उसी की धरती पर हराया. 5 मैचों की वनडे सीरीज को टीम इंडिया ने 3-2 से अपने नाम किया. टीम इंडिया ने पहले 3 मैच जीते लेकिन आखिरी के दो मैचों में उसे हार मिली. ऐसे में टीम इंडिया के हाथ से एक बार फिर क्लीन स्वीप का सुनहरा मौका निकल गया.

ट्राई सीरीज 2013
साल 2013 में एम एस धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज की धरती पर कदम रखा. इस बार मुकाबला ट्राई सीरीज में था. जिसमें तीसरी टीम श्रीलंका थी. धोनी के चोटिल हो जाने के कारण कोहली ने कुछ मैचों में कप्तानी की. हालांकि फाइनल मैच में श्रीलंका के खिलाफ धोनी खेले और मुश्किल स्थिति में मैच फिनिश करके भारत को जीत दिलाई थी. इस सीरीज को टीम इंडिया ने ही अपने नाम किया.