Home अपना उत्तराखंड उत्तराखंड सरकार ने विधायक निधि में किया एक करोड़ का इजाफा, सीमांत...

उत्तराखंड सरकार ने विधायक निधि में किया एक करोड़ का इजाफा, सीमांत किसानों को मिलेगा सस्ता कर्ज

1611
SHARE

उत्तराखंड: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत मंगलवार को विपक्ष के सवालों का जवाब देने के लिए सदन में मौजूद रहे. अपने विधायकों को उन्होंने सबसे पहले सालाना विधायक निधि को बढ़ाकर एक तोहफा दिया. अब विधायकों की सालाना विधायक निधि 2 करोड़ 75 लाख से बढ़ाकर 3 करोड़ 75 लाख़ कर दी गई है. लेकिन विधायकों का वेतन बढ़ाने की मांग को उन्होंने सदन में ही खारिज कर दिया.

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राज्य के राज्य व्यापारियों को भी एक बड़ा तोहफा दिया. राज्य में अब 5 करोड़ रूपए तक के ठेके सिर्फ राज्य के स्थानीय निवासियों को ही दिए जाएंगे. किसानों के घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री ने दूरस्थ और सीमांत क्षेत्रों में रहने वाले किसानों के लिए एक लाख रुपए तक का कर्ज सस्ता कर दिया गया है. अब सिर्फ दो प्रतिशत की सालाना दर पर इन किसानों को कर्ज दिया जाएगा.

सीएम रावत ने सदन को बंद पड़ी जल विद्युत परियोजनाओं को फिर से शुरू करने का भरोसा दिलाया. मुख्यमंत्री ने ऐलान किया कि 2019 तक राज्य को किसी भी दशा में पूर्ण साक्षर बनाया जाएगा. योग को लेकर भी मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया है कि योग को अन्य स्थानों पर भी पहुंचाना है. उन्होंने कहा कि ऋषिकेश योग की राजधानी है लेकिन इस बढ़ावा देने के लिए अभी कई और योग सेंटर विकसित किए जाने हैं. साथ ही उन्होंने एनएच-24 मामले पर सदन को बताया कि राज्य सरकार इस मामले पर काम कर रही है.

उत्तराखंड चुनाव में भारी बहुमत से जीत कर आई बीजेपी ने त्रिवेंद्र रावत को सरकार की कमान सौंपी है. रावत ने इन योजनाओं का ऐलान करके राज्य की जनता के बीच भरोसा बढ़ाने की कोशिश की है. उत्तराखंड में बेरोजगारी और पलायन रोकना राज्य सरकार के लिए बड़ी चुनौती है.